धार्मिक मामलों में दखलंदाजी सहन नहीं : बादल

Patiala Updated Mon, 12 Nov 2012 12:00 PM IST
पटियाला। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि कांग्रेस की सिखों के धार्मिक मामलों में सियासी दखलंदाजी सहन नहीं की जाएगी। बादल ने जस्टिस जेएस सेखों की पंजाब के लोकपाल के तौर पर नियुक्ति को वैधानिक नियमों के मुताबिक सही ठहराया। इसके अलावा लोगों को बेहतर चिकित्सा सेवाएं देने के लिए राजिंद्रा अस्पताल को सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल बनाने का फैसला किया गया है। जबकि संगरूर में पीजीआई का सब सेंटर जल्द खोला जा रहा है।
वह रविवार को ग्रामीण विकास एव पंचायत मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा के पिता सूबेदार करतार सिंह धालीवाल की 16वीं बरसी के मौके पर गांव रखड़ा में आयोजित श्रद्धांजलि समारोह में पत्रकारों से बात कर रहे थे। इस मौके पर दिल्ली में सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान के सीधे चुनाव संबंधी सरना की ओर से की जा रही मांग संबंधी पूछे सवाल के जवाब में बादल ने कहा कि दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी भी पंजाब में एसजीपीसी की तरह ही लंबे संघर्ष और कुर्बानियों के बाद असतित्व में आई थी, लेकिन केंद्र की कांग्रेस सरकार इसमें बिना वजह किसी साजिश तहत दखलंदाजी कर रही है और अब केंद्र की ओर से सरना बंधुओं को सियासी जीवनदान देने के लिए प्रधानगी के सीधे चुनाव को कानूनी रूप दिया जा रहा है। जिसका शिअद की ओर से विरोध किया जा रहा है। बादल ने कहा कि जब पूरे देश में किसी भी चुनी हुई संवैधानिक संस्था के प्रधान का चुनाव सीधे नहीं होता, तो दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का चुनाव सीधे कैसे कराया जा सकता है। इस संबंधी वह प्रधानमंत्री समेत कानून मंत्री को मिल चुके हैं और इस विषय पर हैरानी प्रकट कर चुके हैं।
जस्टिस जेएस सेखों की पंजाब के लोकपाल के तौर पर नियुक्ति पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से एतराज जताए जाने के सवाल के जवाब में बादल ने कहा कि कैप्टन अपनी पार्टी से दुखी होकर बिना वजह पंजाब सरकार के फैसलों पर अंगुलियां उठाते रहते हैं। बादल ने कहा कि जस्टिस सेखों की नियुक्ति वैधानिक नियमों मुताबिक हुई है और इसको स्पीकर, मुख्य जज और राजपाल ने मंजूर किया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार की ओर से राज्य में बेरोजगारी दूर करने के लिए स्किल डेवलेपमेंट सेंटर खोले जा रहे हैं। जिससे पंजाब में नौजवानों को हुनरमंद बनाकर स्वरोजगार के योग्य बनाया जा सके। इसके बाद उन्होंने स्वर्गीय सूबेदार करतार सिंह धालीवाल को श्रद्धा के फूल भेंट करते हुए कहा कि उन्होंने जहां फौज में रहकर देश की बड़ी सेवा की, वहीं समाज सेवा भी की। बादल ने रखड़ा परिवार की ओर से गरीबों व बेसहारा बच्चों की परवरिश के लिए बनाए गए रखड़ा चैरिटेबल ट्रस्ट की सराहना करते हुए कहा कि इसका दायरा और बढ़ाया जाना चाहिए। इस मौके पर उन्होंने स्वर्गीय करतार सिंह की याद में एक सोविनियर रिलीज किया। श्रद्धांजलि समारोह में ट्रांसपोर्ट मंत्री अजीत सिंह कोहाड़, एसजीपीसी के पूर्व प्रधान किरपाल सिंह बडूंगर, शिअद महासचिव प्रेम सिंह चंदूमाजरा, ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा, जाने-माने प्रवासी भारतीय दर्शन सिंह धालीवाल, चरनजीत सिंह धालीवाल आदि मौजूद रहे। इन सभी ने स्वर्गीय करतार सिंह को श्रद्धांजलि भेंट की।

Spotlight

Most Read

Rohtak

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

जीएसटी विभाग ने ई-वे बिल को लेकर जांच किया अवेयरनेस कैंपेन

19 जनवरी 2018

Related Videos

अमानवीय : दिल-दहला देगा सड़क हादसे का ये वीडियो

पंजाब के मोहाली में एक रोड एक्सीडेंट हुआ और उसके बाद जो हुआ वो दिल दहला देने वाला था। दरअसल एक्सीडेंट के बाद गाड़ी उस शख्स को तकरीबन एक किलोमीटर तक घसीटकर ले गई।

25 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper