ट्रैफिक फ्री जोन पर फूटा व्यापारियों का गुस्सा

Pathankot Updated Sat, 21 Jul 2012 12:00 PM IST
पठानकोट। नगर निगम की ओर से शहर में ट्रैफिक फ्री जोन की पाबंदी लागू करने के पहले दिन व्यापारियों का गुस्सा फूट पड़ा। शुक्रवार को गांधी चौक, वाल्मीकि चौक, मेन बाजार समेत पाबंदी प्रभावित बाजारों के दुकानदारों ने अपना कामकाज ठप रखकर निगम कमिश्नर के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन किया और कमिश्नर का पुतला फूंका। प्रदर्शनकारियों ने डाक खाना चौक में धरना देकर शाहपुर रोड पर जाम लगा दिया।
जानकारी के मुताबिक वाल्मीकि चौक से डाक खाना चौक और गाड़ी अहाता चौक से शाहपुर रोड तक ट्रैफिक फ्री जोन निगम की ओर से घोषित करने के प्रशासन की ओर से आदेश जारी किए गए हैं। इसमें वाहनों के घुसने पर पाबंदी के चलते देर रात से ही बाजारों को पुलिस बल से नाकेबंदी कर दी थी। सुबह बाजारों के सभी चौक पर पुलिस का पहरा था और भीतर आने वाले प्रत्येक वाहन को रोका गया था। इस पर व्यापारियों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने अपनी दुकानों को बंद कर दिया। दुकानें बंद करके व्यापार मंडल पठानकोट के चेयरमैन सुनील महाजन, पंजाब व्यापार मंडल के महासचिव एलआर सोढ़ी के नेतृत्व में निगम कमिश्नर जेपी सिंह के खिलाफ मार्च निकालकर जमकर नारेबाजी की। एलआर सोढ़ी, व्यापार मंडल के महासचिव राजेश शर्मा, भारत महाजन, शाम महाजन, अजय कोहली, रमेश अरोड़ा ने कहा कि बाजारों में लोग अपना सामान खरीदने के लिए आते हैं लिहाजा उनका वाहनोंपर आना लाजमी है, लेकिन उनके वाहनों को भीतर प्रवेश पर रोक लगाने से व्यापारियों का कामकाज ठप करने के साथ साथ लोगों को भी परेशान किया जा रहा है। बाजारों में दोपहिया वाहनों पर भी रोक लगाकर उनके कारोबार को चौपट कर दिया है। उन्होंने कहा कि निगम की ओर से बड़े शहरों की तर्ज पर कानून लागू किए जा रहे है, लेकिन उसके मुकाबले सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि मार्केट में आने वाले वाहनों को खड़े करने के लिए पार्किंग की व्यवस्था करना निगम की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि बिना वाहन के सामान ले जाना व्यापारियों के लिए काफी कठिन है। उन्होंने कहा कि यदि नगर निगम कमिश्नर सिंह ने अपने इस फरमान को शीघ्र वापिस नही लिया तो समूह दुकानदार एकजुट होकर निगम के खिलाफ कड़ा संघर्ष करने के लिए विवश होंगे। इसके बाद प्रदर्शनकारी एसएसपी पठानकोट डा. सुरिंद्र कुमार कालिया से मिले और उन्हें मामले का हल करने की मांग की। एसएसपी ने उन्हें दो दिन बाद संयुक्त मीटिंग बुलाकर मामले का हल कराने का आश्वासन दिया। इसके बाद व्यापारी प्रदर्शन से पीछे हटे। इस बारे में डीसी सिबन सी ने कहा कि दोपहिया वाहनों पर रोक लगाना शायद ठीक नहीं होगा, लेकिन इस पर समूह अधिकारियों के साथ बैठकर गहनता से विचार विमर्श किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक समस्या को सुचारु करने के लिए नो पार्किंग जोन एक अच्छा यत्न है तथा उसका शीघ्र पालन होना चाहिए।
इस संबंध में एसएसपी डा. सुरिन्द्र कुमार कालिया ने कहा कि दो दिनों के लिए दोपहिया वाहनों के प्रवेश पर लगी पाबंदी पर रोक लगा दी गई है तथा इस पर प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बातचीत करने के बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

FILM REVIEW: राजपूतों की गौरवगाथा है पद्मावत, रणवीर सिंह ने निभाया अलाउद्दीन ख़िलजी का दमदार रोल

संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावत 25 फरवरी को रिलीज हो रही है। लेकिन उससे पहले उन्होंने अपनी फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग की। आइए आपको बताते हैं कि कैसे रही ये फिल्म...

24 जनवरी 2018