घर के कूड़े से बनेगी खाद और बिजली

Mohali Updated Mon, 06 Aug 2012 12:00 PM IST
मोहाली। शहर और आसपास के शहरों को जल्द ही कूड़े की समस्या से निजात मिल जाएगी। स्थानीय निकाय विभाग ने गमाडा क्लस्टर के लिए बनाए जाने वाले सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्रोजेक्ट की कवायद तेज कर दी है। इसके लिए कंपनियों से एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट की बिड्स मांगी गई है। यह प्रोजेक्ट सिरे चढ़ने के बाद कंपनी सीधे घरों व संस्थानों से कूड़ा उठाएगी और प्लांट में साइंटिफिक तरीके से उसका निपटारा करके कूड़े से खाद, बिजली आदि बनाई जाएगी। यह पंजाब का अपनी तरह का पहला प्रोजेक्ट होगा।

9 से 12 अगस्त तक करें आवेदन
प्रोजेक्ट की अहमियत देखते हुए निकाय विभाग ने इंटरनेशनल कंपिटीटिव बिडिंग प्रक्रिया अपनाई है यानी अंतरराष्ट्रीय कंपनियां भी इस प्रोजेक्ट की दौड़ में शामिल हो सकेंगी। इस प्रोजेक्ट के लिए नौ अगस्त से आवेदन किए जा सकेंगे। 21 अगस्त को प्री-बिड कांफ्रेंस होगी और 12 सितंबर तक आवेदन लिए जाएंगे। आवेदन के समय 10 हजार रुपये और एक लाख रुपये के ड्राफ्ट जमा करने होंगे। बिडर्स से तीन तरह के प्रपोजल लिए जाएंगे, जिनमें रिक्वेस्ट प्रपोजल, टेक्निकल प्रपोजल व फाइनेंशियल प्रपोजल शामिल हैं। रिक्वेस्ट प्रपोजल रिजेक्ट होने पर उनके एक लाख रुपये लौटा दिए जाएंगे और बाकी बिडर्स के टेक्निकल प्रपोजल खोले जाएंगे। आखिर में फाइनेंशियल प्रपोजल के आधार पर यह प्रोजेक्ट चुनी गई कंपनी को दिया जाएगा।
प्रोजेक्ट के संचालन की जिम्मेदारी इंफ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज, इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट बोर्ड को सौंपी गई है। यह प्रोजेक्ट प्राइवेट-पब्लिक पार्टनरशिप के आधार पर चलाया जाएगा। निगम के ज्वाइंट कमिश्नर जेसी सभरवाल ने भी प्रोजेक्ट के लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट की बिड्स मांगे जाने की पुष्टि की है।

समगौली में बनेगा प्लांट
प्रोजेक्ट के तहत डेराबस्सी के पास गांव समगौली में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट तैयार किया जाएगा। इसके लिए 40 एकड़ जमीन एक्वायर करने के लिए जुलाई में ही सेक्शन चार व छह के नोटिफिकेशन जारी किए जा चुके हैं। प्लांट पर 72.73 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसके लिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय फरवरी-12 में हरी झंडी दे चुका है।

मोहाली समेत 18 काउंसिल को होगा फायदा
गमाडा क्लस्टर के इस प्रोजेक्ट में मोहाली नगर निगम समेत कुल 18 काउंसिलों के अधीन आने वाले क्षेत्रों के कूड़े का निपटारा किया जाएगा, जिनमें जीरकपुर, डेराबस्सी, बनूड़, राजपुरा, रोपड़ आदि शामिल हैं। इन सभी शहरों से रोजाना 328 टन सॉलिड वेस्ट इकट्ठा करके प्लांट में पहुंचाया जाएगा।

घरों से कूड़ा उठाएंगे कंपनी के नुमाइंदे
प्रोजेक्ट के तहत गमाडा क्लस्टर के सभी शहरों में घरों व संस्थानों से कंपनी खुद कूड़ा उठवाने का इंतजाम करेगी। फिर उसे ट्रांसफर स्टेशन पहुंचाया जाएगा, जहां से कूड़े को अलग किया जाएगा। फिर सॉलिड वेस्ट को प्लांट पहुंचाया जाएगा, जहां साइंटिफिक तरीके से उसका निपटारा होगा। कंपनी खुद ही अपना डोर-टु-डोर नेटवर्क, ट्रांसफर स्टेशन आदि बनाएगी।

141 शहरों पर फोकस
गमाडा क्लस्टर के बाद सरकार ने राज्य भर के सभी 141 शहरों में प्रोजेक्ट शुरू करने की योजना बनाई है, जहां से पांच हजार टन सॉलिड वेस्ट प्रतिदिन निकलेगा। इसका इस्तेमाल खाद, बिजली आदि बनाने में किया जाएगा। इसके लिए राज्य में आठ मेगा क्लस्टर जालंधर, लुधियाना, बठिंडा, फिरोजपुर, पटियाला, अमृतसर, पठानकोट व गमाडा बनाए गए हैं। गमाडा क्लस्टर का प्रोजेक्ट शुरू कर दिया गया है। इसके लागू होने से पंजाब देश का पहला राज्य हो जाएगा, जहां सारे शहरी इलाके में सॉलिड वेस्ट का निपटारा साइंटिफिक तरीके से होगा।

Spotlight

Most Read

Gorakhpur

पद्मावत फिल्म का प्रदर्शन रोकने को सड़क पर उतरी करणी सेना

पद्मावत फिल्म का प्रदर्शन रोकने को सड़क पर उतरी करणी सेना

22 जनवरी 2018

Related Videos

पंजाब में नशे का कारोबारी पुलिस इंस्पेक्टर गिरफ्तार

पंजाब में ड्रग कारोबार पर लगाम लगाने के लिए पुलिस ने कार्रवाई की। इस कार्रवाई में हरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया।

22 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper