सिख संगतों की गिरफ्तारी निंदनीय : बादल

Ludhiana Updated Fri, 30 Nov 2012 12:00 PM IST
लंबी (मुक्तसर)। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि उत्तराखंड सरकार द्वारा हरिद्वार के गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब के दर्शनों के लिए जा रही संगतों की गिरफ्तारी करना अति निंदनीय कार्रवाई है। सभी धर्मों का सम्मान जरूरी है। संविधान धार्मिक निष्पक्षता की हामी भरता है। ऐसे में किसी विशेष धर्म के रीति-रिवाजों में दखलंदाजी कर ठेस पहुंचाना बुरी बात है। लंबी हलके के गांवों के दो दिवसीय दौरे के पहले दिन मुख्यमंत्री बादल ने गांव गग्गड़ में पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि सिखों के धार्मिक मसलों में दखल देना कांग्रेस की पुरानी रवायत रही है। एक तरफ तो दिल्ली की कांग्रेस सरकार दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का चुनाव न करवाकर सिखों के साथ नाइंसाफी कर रही है, दूसरी तरफ उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार ने धार्मिक यात्रा पर रोक लगाकर सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंचाया है। पंजाब सरकार की मिसाल देते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में भाईचारक सांझ कायम रखने को पहल देती है और सभी धर्मों को बराबर का सम्मान देती है।
कसाब को फांसी के बाद पाकिस्तान में कट्टरपंथियों की धमकी पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा सख्त सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। पंजाब में कोई खतरे वाली बात नहीं है। पंजाब के थर्मल प्लांटों में कोयले की कमी संबंधी उन्होंने बताया कि इस बाबत वह निजी तौर पर कोयले की निर्विघ्न सप्लाई यकीनी बनाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने इस संबंध में झारखंड के मुख्यमंत्री से निजी दखल देने की मांग भी उठाई है। उन्होंने कहा कि राज्य में पीने के पानी की शुद्ध सप्लाई यकीनी बनाना और शिक्षा के मामले में राज्य को अग्रणी प्रांत बनाना सरकार का मुख्य लक्ष्य है।


किसानों को दी सहायक धंधे अपनाने की सलाह
संगत दर्शन कार्यक्रम के दौरान सीएम ने सुनीं लोगों की मुश्किलें
लंबी (मुक्तसर)। वीरवार को मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने लंबी हलके के गांव फतूहीवाला, सिंघेवाला, ढाणी सिंघेवाला, मिठड़ी बुधगिर, गग्गड़, वड़िंगखेड़ा, किल्लियांवाला और मंडी किल्लियांवाली आदि में संगत दर्शन कार्यक्रमों के दौरान लोगों की मुश्किलें सुनीं। साथ ही मौके पर ही ग्रांट देने की घोषणाएं कीं। इस बार ग्रांट की रकम ई-ट्रांसफर प्रणाली के जरिए सीधे पंचायतों के खाते में जमा हो जाएगी। गांव गग्गड़ में संगत दर्शन कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र की यूपीए सरकार की कृषि विरोधी नीतियों के कारण किसानी का धंधा बर्बादी के कगार पर पहुंच चुका है। यह धंधा अब मुनाफे वाला नहीं रहा है। खेती लागतों और कीमतों पर केंद्र सरकार का सीधा कंट्रोल होने के कारण एक तरफ तो किसानों को बीज, खादें और डीजल महंगे दामों पर मिल रहे हैं तो दूसरी तरफ किसान की उपज का उसे पूरा मूल्य नहीं मिल रहा। उन्होंने किसानों को सहायक धंधे अपनाने की सलाह देते हुए कहा कि पंजाब सरकार ने पशु पालन, डेयरी, शहद की मक्खियां पालने और मछली पालन के धंधे के साथ जोड़ने के लिए जहां सिखलाई केंद्र स्थापित किए हैं वहीं पंजाब सरकार यह धंधे शुरू करने के लिए सब्सिडी भी दे रही है। गांव सिंघेवाला में संगत दर्शन के दौरान ग्रामीणों की शिकायत पर सीएम ने गांव में नए बनाए गए वाटर-वर्क्स की लीकेज संबंधी तुरंत कार्रवाई करने के लिए जल सप्लाई एंड सेनिटेशन विभाग के चीफ इंजीनियर को मौके पर जांच करने के आदेश भी दिए। इस दौरान गांव सिंघेवाला में कई कांग्रेसी परिवारों ने शिअद का दामन थाम लिया। मुख्यमंत्री ने शिअद में शामिल होने वाले परिवारों के मुखियों का सिरोपा भेंट कर सम्मान किया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव केजेएस चीमा, डीसी परमजीत सिंह, डीआईजी प्रमोद बान, एसएसपी सुरजीत सिंह, एडीसी नरिंदर सिंह बाठ, एसडीएम अमनदीप बांसल, चेयरमैन तेजिंदर सिंह मिड्ढूखेड़ा, अवतार सिंह वनवाला, कुलबीर इंदर सिंह भाटी, हरिंदर सिंह गोपी तरमाला, गुरचरण सिंह, बलकरन सिंह आदि भी उपस्थित थे।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश: कांग्रेस ने लहराया परचम, 24 में से 20 वॉर्ड पर कब्जा

मध्यप्रदेश के राघोगढ़ में हुए नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस को 20 वार्डों में जीत हासिल हुई है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper