सीएम के करीबी जत्थेदार की गोली से मौत

Ludhiana Updated Sat, 10 Nov 2012 12:00 PM IST
लंबी/मलोट(मुक्तसर)। मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के गृह क्षेत्र लंबी के शिअद सर्किल अध्यक्ष और मुख्यमंत्री बादल के अति करीबी जत्थेदार इकबाल सिंह तरमाला की शुक्रवार को गोली लगने से संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। 56 वर्षीय इकबाल सिंह तरमाला को उनके निवास स्थान गांव तरमाला में शुक्रवार सुबह लगभग 4 बजे अचानक गोली लग गई। घायल अवस्था में इकबाल तरमाला को अस्पताल लाया गया। जहां पर डाक्टराें ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। स्वर्गीय तरमाला अपने पीछे अपनी पत्नी और दो बेटे छोड़ गए हैं। वहीं इकबाल तरमाला के निधन की खबर मिलते ही मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने लंबी हलके के गांवों का संगत दर्शन कार्यक्रम रद कर दिया। तरमाला के निधन की खबर सुनते ही मुख्यमंत्री उनके निवास स्थान पर पहुंचे और मृतक के परिजनों के साथ हमदर्दी जताई। दोपहर बाद गमगीन माहौल में तरमाला का अंतिम संस्कार हुआ। उनक ी पार्थिव देह को मुखाग्नि उनके दोनों पुत्रों अमरिंदर सिंह और नवइंदर सिंह ने दी। इस दौरान मुख्यमंत्री बादल समेत समूह शिअद लीडरशिप ने पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि भेंट की। बादल ने तरमाला की मृत देह पर दुशाला भेंट करते हुए उन्हें श्रद्धा-सुमन अर्पित किए। साथ ही इस दु:ख की घड़ी में परमात्मा को पारिवारिक सदस्यों को हिम्मत देने की अरदास की। श्री बादल ने अपने संबोधन में तरमाला की समाज और पार्टी के प्रति की गई सेवाओं को याद करते हुए कहा कि उनकी निधन से पार्टी को कभी न पूरा होने वाला घाटा हुआ है। उनका इस तरह बेवक्त जहान से विदा हो जाना बहुत असहनीय है। जत्थेदार इकबाल सिंह तरमाला को समाजसेवा के क्षेत्र में किए गए कामों के लिए हमेशा याद रखा जाएगा। गौरतलब है कि आज से मुख्यमंत्री बादल का लंबी हल्के के गांवों में दो दिवसीय संगत दर्शन कार्यक्रम शुरू होना था, जिसे रद कर दिया गया। उधर, एसएसपी सुरजीत सिंह के साथ संपर्क किया गया तो उन्होंने 174 के तहत कार्रवाई किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि पुलिस कार्रवाई कर रही है। जांच के बाद ही यह बात सामने आएगी कि असल मामला क्या है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

14 साल के इस बच्चे ने कराई चार कैदियों की रिहाई, दान में दी प्राइज मनी

14 साल के आयुष किशोर ने चार कैदियों की रिहाई के लिए दान कर दी राष्ट्रपति से मिली प्राइज मनी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper