धान खरीद में पटियाला जिला अव्वल : लक्खोवाल

Ludhiana Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
मुक्तसर। मंडी बोर्ड के चेयरमैन अजमेर सिंह लक्खोवाल ने कहा कि पंजाब की मंडियों में अब तक 90.62 लाख टन धान की आमद हुई है, जिसमें से 87.15 लाख टन धान की खरीद की जा चुकी है। इसमें से 76.02 लाख टन सरकारी खरीद एजेंसियों ने और 11.13 लाख टन धान की खरीद प्राइवेट व्यापारियों द्वारा की गई है। लक्खोवाल सोमवार को मुक्तसर की अनाज मंडी में खरीद प्रबंधों का जायजा लेने पहुंचे हुए थे। इस दौरान पत्रकारों के साथ बातचीत में उन्होंने बताया कि इस वर्ष 8,13,182 टन खरीद करने के चलते पटियाला जिला पहले, 7,44,962 टन खरीद करते हुए फिरोजपुर जिला दूसरे और 7,43,962 टन धान खरीद से लुधियाना जिला तीसरे स्थान पर चल रहा है। श्री लक्खोवाल ने कहा कि पिछले वर्ष आज के दिन तक 96.35 लाख टन धान की आमद हुई थी। मगर इस बार फसल देरी से पकने के कारण आमद कम हुई है। उन्होंने इस बार भी पिछले वर्ष जितनी खरीद होने की उम्मीद जताई। मंडी के दौरे के दौरान श्री लक्खोवाल ने जहां किसानों की मुश्किलें सुनीं। वहीं अधिकारियों, आढ़तियों और शैलर मालिकों के साथ बैठक करते हुए धान के मंडीकरण में किसानों को कोई मुश्किल न पेश आने देने के निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला मंडी अफसर कुलदीप सिंह, मार्केट कमेटी के चेयरमैन जगदेव सिंह भुल्लर, सचिव गुरचरण सिंह, भारतीय किसान यूनियन (लक्खोवाल) के जिला अध्यक्ष महिंदर सिंह, बलजिंदर शर्मा, आढ़तिया एसोसिएशन के अध्यक्ष नत्था सिंह के अलावा खरीद एजेंसियों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

सेलो गोदाम बनाने का प्रोजेक्ट भेजा
चेयरमैन अजमेर सिंह लक्खोवाल ने कहा कि इस बार भारत समेत दुनिया के कई मुल्कों में अनाज उत्पादन बहुत कम हुआ है। फिर भी पंजाब सरकार के सहयोग से प्रदेश के किसानों ने भारी मात्रा में धान की पैदावार की है। मगर धान की खरीद के लिए सख्त मापदंड निर्धारित करके केंद्र सरकार धान खरीद मेें अड़चनें पैदा कर रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने केंद्र सरकार के पास प्रोजेक्ट भेजा है कि सभी हैड क्वार्टरों पर सेलो गोदाम बनाए जाएं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017