नाभा में होगा प्रो. मोहन सिंह मेला : जस्सोवाल

Ludhiana Updated Fri, 28 Sep 2012 12:00 PM IST
लुधियाना। प्रो. मोहन सिंह यादगारी फाउंडेशन के चेयरमैन जगदेव सिंह जस्सोवाल की अध्यक्षता में मीटिंग की गई, जिसमें प्रो. मोहन सिंह यादगारी मेले की तैयारियों का जायजा लिया गया। जस्सोवाल ने कहा कि 19 से 21 अक्तूबर तक आयोजित करवाया जाने वाले मेला इस बार नाभा में करवाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि मेला नाभा महाराज के वजीर महिताब सिंह गरेवाल को समर्पिंत होगा। मेले में जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, हिमाचल, महाराष्ट्र, गुजरात की लोक मंडलियां, पुस्तकों की प्रदर्शनी, पंजाब के लोग गायक जोड़ी, ढाडी, कविश्री, गतका पार्टियां, बाजीगरों को करतब, कुश्तियां, लोक कलाकृतियों की प्रदर्शनी, दस्तार बंदी, नाभे शहर की प्राचीन विरासत की प्रदर्शनी, भांगड़ा, कवि दरबार, नाटक मंडियां, त्रिंझणस गिद्दा, लोकनाच मुख्य आकर्षण का केंद्र होंगे। मेला उत्तरी राज सभ्याचारक केंद्र पटियाला के सहयोग से बड़े उत्साह के साथ मनाया जा रहा है। मेले में एक डाक्यूमेंट्री फिल्म तैयार की जा रही है, जो विदेशों में रहने वाले पंजाबियों को उपहार के रूप में दी जाएगी। यह मेला पंजाब के नामवर शायर प्रो. मोहन सिंह की याद में लगाया जाता है।
जस्सोवाल ने बताया कि मेले में साहित्य, सभ्याचार, विरासत, किस्साकार, थिएटर और अन्य वर्गो मं अपना नाम कमाने वाले 15 पंजाबियों को प्रो. मोहन सिंह पुरस्कार से नवाजा जाएगा। 19 अक्तूबर को मेले के पहला दिन गांव नानोके के नजदीक भादसों में होगा और 20 और 21 अक्तूबर को रिपुदमन कालेज नाभा में खुला अखाड़ा लगाया जाएगा। इस मौके पर प्रगट सिंह ग्रेवाल, साधु सिंह ग्रेवाल, दलजीत बागी, अबनिंदर सिंह ग्रेवाल, हरिंदर सिंह चाहल, रविंदर ग्रेवाल, इकवाल रुड़का, जनमेजा सिंह जौहल, निर्मल जोडा, कृष्ण कुमार बावा, हरभजन सिंह राणा, सोहन सिंह ठेकेदार, प्रीत अरमान, हरदियाल सिंह अमन, दलजीत सिंंह कुलार उपस्थित थे।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

14 साल के इस बच्चे ने कराई चार कैदियों की रिहाई, दान में दी प्राइज मनी

14 साल के आयुष किशोर ने चार कैदियों की रिहाई के लिए दान कर दी राष्ट्रपति से मिली प्राइज मनी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper