दिल्ली से कम पैसेंजर लोड होगा लुधियाना मेट्रो में

Ludhiana Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
लुधियाना। लुधियाना वासियों को मेट्रो का सफर करवाने के लिए पंजाब सरकार ने इसके प्रोजेक्ट पर पूरा फोकस कर दिया है। हालांकि दिल्ली मेट्रो की तर्ज पर इस प्रोजेक्ट को देखा जा रहा है, लेकिन लुधियाना में दिल्ली मेट्रो के मुकाबले कम पैसेंजर लोड होगा। इसके अगले सप्ताह दोबारा सर्वे करवाया जाएगा और 15 सितंबर को बाद फाइनल डीपीआर तैयार होगी।
लुधियाना मेट्रो को बीओटी बेस या फिर पीपीपी (प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप) बेस के तहत बनाया जाएगा, इसका फैसला हाई पावर कमेटी करेगी। जल्दी ही स्पेशल पर्पज व्हीकल (एसपीवी) कमेटी का गठन किया जाएगा और उसके बाद टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी। काबिलेजिक्र है कि पंजाब सरकार ने पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान लुधियाना में मेट्रो शुरू करने की घोषणा की थी। वर्ष 2007 में इस प्रोजेक्ट पर अमल करने के लिए मेट्रो रेल के लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (डीएमआरसी) से अनुबंध किया था। इसके लिए शहर का सर्वेक्षण करने और मेट्रो रूट तय किए गए लेकिन मामला बजट पर आकर अटक गया था। इसके चलते लागत कम करने पर विचार हुआ और प्रोजेक्ट में कई फेरबदल किए गए। दिल्ली मेट्रो ने लुधियाना मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए 10,516 करोड़ रुपये का अनुमानित लागत तय की थी। इसके तहत लुधियाना मेट्रो को दो कोरिडोर में बांटा गया है। इसमें पहले कॉरिडोर के तहत 15.34 किलोमीटर रेल पटरी बिछाई जाएगी और 14 स्टेशन बनाने की योजना है। दूसरे कॉरिडोर के तहत 12.5 किलोमीटर लंबी पटरी बिछाई जाएगी और 13 स्टेशन बनेंगे। एक कॉरिडोर अयाली चौक से गिल गांव और दूसरा राहो रोड से चुंगी तक बनाया जाएगा। राज्य के पहली मेट्रो के इस सपने को मंजूरी मिलने के बाद जल्दी ही इसको शुरू करने की तैयारियां आरंभ हो जाएगी। अब यह प्रोजेक्ट बिल्ट आपरेट ट्रांसफर (बीओटी) के तहत शुरू होगा।


डीएमआरसी की टीम करेगी सर्वे
पिछले दिनों दिल्ली में हुई बैठक में फैसला लिया गया कि लुधियाना मेट्रो प्रोजेक्ट की फाइनल रिपोर्ट तैयार करने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन की टीम फाइनल सर्वे के लिए लुधियाना आएगी। क्योंकि अब तक तैयार डीपीआर में संशोधन की जरूरत है, 15 सितंबर तक सर्वे रिपोर्ट तैयार कर फाइनल डीपीआर तैयार की जाएगी।

मेट्रो रेल के प्रस्तावित स्टेशन
लुधियाना। मेट्रो रेल में दो प्रस्तावित रूट होंगे। पहला रूट अयाली चौक से बीबीएमबी पावर हाउस तक होगा। इसमें प्रस्तावित रेलवे स्टेशनों में अयाली चौक, राजगुरु नगर, अगर नगर, वेरका मिल्क प्लांट, पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, आरती चौक, भारत नगर चौक, गुरु नानक स्टेडियम, दुख निवारण गुरुद्वारा, सिविल अस्पताल, समराला चौक, वर्धमान मिल, जमालपुर, बीबीएमबी पावर हाउस होंगे।
दूसरा रूट गांव गिल से राहों रोड तक होगा। इसके प्रस्तावित स्टेशनों में गांव गिल के बाद जीएनई कालेज, शिमलापुरी, एटीआई चौक, सराभा मार्केट गिल रोड, गिल चौक, सिटी बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, दरेसी ग्राउंड, गुरु नानक नगर, बस्ती जोधेवाल, राहों रोड चुंगी तक ट्रेन चलाई जाएगी।


लोगों में असमंजस
मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को लेकर लुधियानवी खुश तो है, लेकिन उनमें असमंजस है कि अगर उनकी जमीन अधिग्रहण की जाएगी तो उनका काम ठप हो जाएगा। क्योंकि अभी जिन मार्केटों में जमीन अधिग्रहण की बात चल रही है, वहां पर उनका जमा जमाया बिजनेस है। इसके चलते लोग असमंजस में है। इसको लेकर पिछले दिनों विधायक सिमरजीत सिंह बैंस भी इस मामले में निगम अधिकारियों को मिले थे।

स्टेशन पर तीन मिनट बाद होगी मेट्रो की एंट्री
बेशक मेट्रो को लुधियाना पहुंचने में पांच साल लगेंगे लेकिन तैयार डीपीआर के मुताबिक प्रत्येक किलोमीटर पर स्टेशन होगा और यात्रियों को हर तीन मिनट बाद मेट्रो की सेवा उपलब्ध होगी। लाइट मेट्रो की खासियत होगी कि एक बार में वह 1034 यात्री सफर कर पाएंगे। नोडल अफसर और एडिशनल कमिश्नर टेक्निकल एचएस खोसा के मुताबिक आने-जाने के लिए अलग-अलग दो ट्रैक बनाए जाएंगे।

पार्किंग की जगह का पता नहीं
वर्तमान डीपीआर के मुताबिक मेट्रो के स्टेशन तो दिखा दिए गए हैं लेकिन दो पहिया वाहनों के लिए पार्किंग के बारे में सोचा ही नहीं गया। करीब दस हजार करोड़ लागत वाले प्रोजेक्ट में हालांकि स्टाफ की पार्किंग की जगह तय है, लेकिन स्टेशन तक वाहनों से आने वाले यात्रियों के वाहन खड़े करने पर विचार ही नहीं किया गया। सीनियर टाउन प्लानर हेमंत बत्रा बताते हैं कि पार्किंग सहित तमाम प्वाइंटों के बारे में विचार चल रहा है। सूत्रों के मुताबिक नई डीपीआर में पार्किंग के लिए जगह अधिग्रहण करने की डिटेल डालने पर प्रोजेक्ट की कीमत में काफी इजाफा हो सकता है।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper