तो राज्य में रोष प्रदर्शन करेंगे ईटीटी

Ludhiana Updated Sat, 18 Aug 2012 12:00 PM IST
मानसा। ईटीटी टीचर्स यूनियन पंजाब ने विभिन्न जिलों में अचानक वेतन पर लगाई रोक के विरोध में 25 अगस्त को राज्य भर में जिला हेडक्वार्टरों पर पंजाब सरकार की अर्थियां जलाने का फैसला किया है। इस दौरान ही शिक्षा मंत्री सिकंदर सिंह मलूका की जत्थेबंदी के साथ 18 अगस्त को उनके ग्रह गांव मलूका में बैठक तय हुई है, लेकिन जत्थेबंदी के नेताओं का कहना है कि अगर बैठक के दौरान कोई सार्थक हल ना निकला तो सूबे में एक बड़ा आंदोलन छेड़ा जाएगा।
उधर, आज वेतन नहीं मिलने के रोष में मानसा जिले के ईटीटी अध्यापकों के जिला खजाना दफ्तर व डीसी दफ्तर का घेराव करते पंजाब सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। डीसी दफ्तर के आगे किए रोष प्रदर्शन के दौरान यूनियन के प्रांतीय महासचिव हरदीप सिंह सिद्धू ने कहा कि पंचायती राज से संबंधित ईटीटी अध्यापकों के वेतन व अन्य मसलों के प्रति सरकार द्वारा पक्षपात किया जा रहा है। इस कारण इन स्कूलों के प्रबंधों को जलूस निकला पड़ा है। विभिन्न जिलों में सौ से अधिक स्कूल बंद पड़े हैं और बाहरी स्कूलों में एक या दो अध्यापक ही काम कर रहे हैं। दूसरी ओर स्कूलों में बच्चे शुद्ध पानी, सफाई प्रबंधों, फर्नीचर, विभिन्न तरह के वजीफों और अन्य प्राथमिक सुविधाओं को तरस रहे हैं लेकिन सरकार ने पिछले छह सालों से इन स्कूलों संबंधी कोई भी सार्थक नीति नहीं बनाई।
प्रांतीय कमेटी सदस्य बलविंद्र भीखी ने कहा कि पिछली विस चुनाव के दौरान अकाली-भाजपा गठजोड़ ने ईटीटी अध्यापकों से यह वादा किया था कि उनकी सरकार बनते ही पंचायती राज से संबंधित 5752 स्कूलों के 13 हजार ईटीटी अध्यापकों को समेत स्कूल शिक्षा विभाग में शामिल कर दिया जाएगा, लेकिन इस गठजोड़ की फिर हुकूमत आने के बावजूद यह वादे पूरा नहीं किया गया। विभाग के उच्च अधिकारियों को किसी बात की कोई फिक्र नहीं है। डीटीएफ के जिलाध्यक्ष सिकंदर सिंह धालीवाल, एससीबीसी अध्यापक यूनियन के जिला नेता जगजीवन सिंह आलीके, अध्यापक दल के जिलाध्यक्ष गुरचरण सिंह अकलिया, प्राइमरी अध्यापक फ्रंट के सुखवीर सिंह गिल ने अध्यापकों की अचानक खजाना दफ्तरों द्वारा सरकार के जुबानी आदेशों पर लगाई रोक की निंदा करते कहा कि उनकी जत्थेबंदियों द्वाराईटीटी अध्यापकों के संघर्षों का डटकर साथ दिया जाएगा।
बाद में डीसी अमित ढाका व एडीसी (ज) अमित कुमार ने अध्यापकों के साथ बैठक करते भरोसा दिलाया कि उनके सारे मसले जल्द हल करवाए जाएंगे। इस रोष प्रदर्शन दौरान जसवीर सिंह खुडाल, रामनाथ धीरा, राजविंदर सिंह खतरीवाला, रणधीर सिंह आदमके, अंग्रेज सिंह साहनेवाली, जगसीर सिंह दयाराम, सुखजीत सिंह, काला सिंह, गुरदीप सिंह, विजय कुमार व बलजिंदर कांसल ने भी संबोधित किया।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper