पांच सौ करोड़ के आर्डर अन्य देशों को शिफ्ट होने का खतरा

Ludhiana Updated Thu, 02 Aug 2012 12:00 PM IST
लुधियाना। पंजाब में कई दिनों से चल रहा बिजली संकट राज्य के निर्यातकों पर भारी पड़ रहा है। रही सही कसर दो दिन में दो बार ग्रिड फेल होने से पूरी हो गई। ग्रिड फेल होने से जहां आधा देश अंधकार में डूब गया, वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में यहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर गलत मैसेज गया। नतीजतन अब बायर आर्डर देने से पहले बिजली की स्थिति के बारे में पूछताछ कर रहा है। निर्यातकों का तर्क है कि बिजली संकट के कारण पहले ही प्रति सप्ताह छह सौ करोड़ रुपये का उत्पादन लॉस हो रहा है। हालत यह है कि 45 दिन में डिलीवरी होने वाले माल को दो से ढाई माह का वक्त लग जाएगा। ऐसे में अब जहां पुराने आर्डर की डिलीवरी को लेकर चिंतित है, वहीं नया आर्डर देने से हाथ खींच रहे हैं। मौजूदा हालात में निर्यातकों को अनुमान है कि कम से कम पंाच सौ करोड़ रुपये का आर्डर चीन, बंाग्लादेश, श्रीलंका इत्यादि देशों को शिफ्ट हो सकता है।
निटवियर एंड टेक्सटाइल एक्सपोर्टर्स आर्गेनाइजेशन के प्रेसिडेंट अजीत लाकड़ा का कहना है कि पंजाब में हालात अब उद्योग चलाने के नहीं रह गए हैं। सप्ताह में तीन दिन का पावर कट लगा है। इसके अलावा अघोषित कट मिला कर उद्योग को औसतन चार दिन बिजली नहीं मिल पा रही है। इससे जहां निर्यातकों को प्रोडक्षन लॉस हो रहा है, वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में कारोबारी संबंधों पर भी असर हो रहा है। साख बचाने के लिए यदि शिप की बजाए उत्पादों को एयर-लिफ्ट भी कराया जाता है तो इससे खर्च कई गुणा बढ़ जाता है। ऐसे में निर्यातकों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। अतिआवश्यक आर्डरों के भुगतान के लिए रोजाना 32 हजार का डीजल फूंक कर इकाई को चलाना पड़ रहा है। इसके बावजूद भी बात नहीं बन पा रही है।
इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट प्रोमोशन काउंसिल के पूर्व रीजनल चेयरमैन एससी रल्हन कहते हैं कि निर्यातक अपनी कमिटमेंट पूरी नहीं कर पा रहे हैं। सप्ताह में तीन दिन के बंद से औसतन छह सौ करोड़ का माल तैयार नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा निर्यातकाें की सारी प्लानिंग हिल गई है। रल्हन का मानना है कि ऐसे में पंजाब से निर्यात के करीब पांच सौ करोड़ के आर्डर चीन समेत अन्य देशों को शिफ्ट हो सकते हैं, क्योंकि अंतरराष्ट्रीय बायर स्थिति सामान्य होने का इंतजार नहीं करता।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls