लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Punjab ›   Jalandhar ›   Theft Accused pointed a pistol at judge in court of Jalandhar

जालंधर: चोरी के आरोपी ने जज पर तानी खिलौना पिस्तौल, कहा-चोरी के केस के कारण काम नहीं मिल रहा... इंसाफ दो

संवाद न्यूज एजेंसी, जालंधर (पंजाब) Published by: निवेदिता वर्मा Updated Tue, 10 May 2022 11:45 AM IST
सार

आरोपी हीरा का कहना है कि उसकी पत्नी गर्भवती है और घर चलाने के लिए पैसे नहीं है। जब भी कहीं काम मांगने जाता है तो चोरी के आरोपों के कारण कोई काम पर नहीं रखता। घर का खर्च चलाना मुश्किल हो गया है और समाज के तानों से वह पूरी तरह से टूट चुका है।

जालंधर में पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।
जालंधर में पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी।
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

नशा करने और चोरी के आरोप में जमानत पर चल रहे आरोपी ने मंगलवार सुबह पेशी के दौरान जज पर ही पिस्तौल तान दी जिससे कोर्ट परिसर में अफरा-तफरी मच गई। घटना जालंधर के उपमंडलीय अदालत फिल्लौर की है। पिस्तौल दिखा कर आरोपी ने जज से कहा कि अगर उसे इंसाफ नहीं मिला तो गोली मार दूंगा।



जज के चिल्लाने पर कोर्ट के बाहर खड़े एएसआई लाल चंद तुरंत कोर्ट के अंदर पहुंचे और आरोपी के हाथ से पिस्तौल छीनी। जांच में पता चला कि खिलौना पिस्तौल है। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर थाना फिल्लौर में मामला दर्ज कर लिया है। वहीं एक आरोपी कोर्ट के भीतर खिलौना पिस्तौल लेकर पहुंच गया इससे कोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।


चोरी के तीन मामलों में जमानत पर चल रहे आरोपी हीरा निवासी संगोवाल (फिल्लौर) की हरकतों ने उसे फिर से सलाखों के पीछे भेज दिया। हीरा ने बताया कि चोरी के आरोपों ने उसे नशे का आदी बना दिया। पत्नी गर्भवती है और घर चलाने के लिए पैसे नहीं है। जब भी कहीं काम मांगने जाता हूं तो चोरी के आरोपों के कारण कोई काम पर नहीं रखता। घर का खर्च चलाना मुश्किल हो गया है और समाज के तानों से वह पूरी तरह से टूट चुका है। वह अपराध नहीं करना चाहता ,लेकिन मजबूरियां उसे दोबारा फिर से चोरी-डकैती करने की तरफ धकेल रही हैं। इसलिए उसने पेशी पर आने से पहले डेढ़ सौ रुपये में खिलौना पिस्तौल खरीदी थी कि वह अदालत में आकर अपनी मनोस्थिति को बता सके, और उसे इंसाफ मिल सके। जब मामले में पेशी पर आता हूं तो कोई भी बिना पैसों के गवाही देने को तैयार ही नहीं होता।

नशेड़ी और मानसिक रूप से परेशान है आरोपी: एसएसपी

एसएसपी देहाती स्वप्न शर्मा ने बताया कि जिस जज की कोर्ट में सुनवाई थी, उनके दो पीएसओ (पर्सनल सिक्योरिटी) है लेकिन एक दूसरे जज को दिया हुआ है और दूसरा छुट्टी पर था। इस बारे में लोकल पुलिस को कोई भी जानकारी नहीं दी गई थी। कोर्ट में लगे मेटल डिटेक्टर काम कर रहे हैं या नहीं इनकी जांच की जा रही है। आरोपी नशे का आदी है और उस पर चोरी के केस चल रहे हैं। घर के हालात भी ठीक न होने के वह मानसिक रूप से परेशान था। इसलिए वह खिलौना पिस्तौल लेकर अदालत में पहुंच गया था। पुलिस ने उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और उसे गिरफ्तार भी कर लिया है। आरोपी हीरा जमानत पर था और सीधे कोर्ट में पेशी पर आया था इसकी जानकारी भी पुलिस से सांझा नहीं की गई।

क्या लुधियाना कोर्ट ब्लास्ट का मंजर भूल गई पुलिस

कुछ महीनों पहले सुरक्षा प्रबंधों की नाकामी के कारण लुधियाना कोर्ट में ब्लास्ट हुआ था। इसके बावजूद पुलिस सबक नहीं सीख रही है। अगर पिस्तौल असली होती और गोली चल जाती तो कौन जिम्मेदार होता। सुरक्षा के लिए अदालतों के बाहर मैटल डिटेक्टर लगे हुए हैं और वहां पर पुलिस कर्मचारी भी मौजूद रहते हैं, लेकिन उनका कोई फायदा नहीं है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00