तीन जिलों में छात्राओं की संख्या अधिक

Jalandhar Updated Tue, 07 Aug 2012 12:00 PM IST
कपूरथला। सूबा सरकार की ओर से लड़कियों की पढ़ाई के लिए उठाए जा रहे कदमों का प्रभाव प्रदेश के कई जिलों में नजर आने लगा है। शिक्षा विभाग के आंकड़ों के मुताबिक नन्ही छांव प्रगति की ओर है। तीन जिलों के सरकारी स्कूलों में छात्राओं की संख्या छात्रों से आगे निकल गई है। इसके अलावा तीन जिलों में छात्र और छात्राओं की संख्या करीब बराबर है। कपूरथला, बरनाला और रूपनगर जिलों के सरकारी स्कूलों में लड़कियों की संख्या लड़कों के मुकाबले अधिक है। गुरदासपुर, लुधियाना तथा मानसा जिला के सरकारी स्कूलों में लड़कों व लड़कियों की संख्या लगभग बराबरी पर है।
शिक्षा विभाग के आंकड़ों के अनुसार जिला बरनाला के कुल 269 सरकारी स्कूलों में शिक्षा प्राप्त कर रहे 2938 विद्यार्थियों में से लड़कियों की संख्या 1611 तथा लड़कों की संख्या 1327 है। यह 55-45 का अनुपात है। जिला रूपनगर के 813 सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे लड़कियों व लड़कों का अनुपात 51-49 का है। इस जिले के सरकारी स्कूलों के 9863 विद्यार्थियों में से 4997 लड़कियां तथा 4866 लड़के हैं। इसी तरह जिला कपूरथला के 755 सरकारी स्कूलों के कुल 2590 विद्यार्थियों में भी लड़कियां 51 प्रतिशत (1332) तथा लड़के 49 प्रतिशत (1258) दर्ज किए गए हैं।
प्रदेश के तीन जिलों गुरदासपुर, लुधियाना तथा मानसा के सरकारी स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे लड़कियाें व लड़कों के अनुपात करीब 49-51 का है, जो लगभग बराबरी का ही कहा जा सकता है। जिला गुरदासपुर 1952 सरकारी स्कूलों के 5270 विद्यार्थियों में से लड़कियों की संख्या 2604 व लड़कों की संख्या 2666 पाई गई। लुधियाना जिला के कुल 1375 सरकारी स्कूलों के कुल 43608 विद्यार्थियों में से लड़कियों की संख्या 21468,जबकि लड़कों की संख्या 22140 पाई गई। मानसा जिला के 455 सरकारी स्कूलों के कुल 16555 विद्यार्थियों में से 8091 लड़कियां व 8464 लड़के शिक्षा ग्रहण कर रहे है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल का प्रिंसिपल गिरफ्तार, पक्ष में माहौल बनाने के लिए अपनाया ये तरीका

राजधानी के ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र पर हुए जानलेवा हमले में पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया।

18 जनवरी 2018

Related Videos

लेडी खली कविता ने खोला राज, बताया कैसे पहुंची WWE तक

WWE में पहुंचनेवाली पहली भारतीय महिला कविता देवी ने अपने इंटरव्यू में की कई अहम मुद्दों पर खुलकर बात। कविता ने बताया कि उन्हें द ग्रेट खली से कितना सपोर्ट मिला और उन्हें ट्रेनिंग के कितने कड़े शेड्यूल से होकर गुजरना पड़ा।

21 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper