कनाडा से सुपारी देकर सास की हत्या करवाई

Jalandhar Updated Thu, 02 Aug 2012 12:00 PM IST
जालंधर। गांव बिलगा में अप्रैल में प्रीतम कौर नामक महिला की कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए पुलिस ने सुपारी किलर गिरोह का पर्दाफाश कर बुधवार को तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रीतम कौर की सुपारी उसकी बहू बलप्रीत कौर निवासी कनाडा ने दी थी। बलप्रीत कौर अपने पति गुरप्रीत सिंह की हत्या करवानी चाहती थी, लेकिन वारदात वाले दिन प्रीतम कौर हत्यारों से उलझ गई थी और हत्यारों ने उसको गोली मार दी थी।
एसएसपी यूरिंदर हेयर ने बताया कि 11-12 अप्रैल की रात को बिलगा में प्रीतम कौर नामक महिला की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस कत्ल की गुत्थी को सुलझाने के लिए डीएसपी फिल्लौर नरिंदर सिंह को जिम्मेदारी दी गई थी। पहले तो इसको लूटपाट की वारदात माना जा रहा था। बाद में इसमें पुलिस को काफी सुराग मिले, जिसके आधार पर पुलिस ने इस कत्ल की गुत्थी सुलझा ली।
एसएसपी हेयर ने बताया कि कनाडा की रहने वाली बलप्रीत कौर के पति हरप्रीत सिंह की मौत हो गई थी। इसके बाद बलप्रीत कौर ने गुरप्रीत सिंह निवासी बिलगा के साथ दूसरी शादी रचा ली थी। बलप्रीत खुद अपने लिए रामपुराफूल की रहने वाली मीना से दवाई मंगवाती थी। मीना के बेटे यूसुफ खान को बलप्रीत कौर ने अपना भाई बना लिया था। बलप्रीत व यूसुफ खान की आपस में फेसबुक पर बात होने लगी थी। बलप्रीत ने यूसुफ को बताया कि उसका पति गुरप्रीत उसके साथ मारपीट करता है और वह उसको ठिकाने लगवा दे। सात, आठ माह पहले गुरप्रीत इंडिया आया तो बलप्रीत कौर ने यूसुफ खान को राजी कर लिया कि वह गुरप्रीत का कत्ल करवा दे, इसके लिए वह उसे 25 लाख रुपये अदा करेगी। बाद में सौदा साढ़े 12 लाख में तय हो गया।
यूसुफ खान ने इस कांट्रेक्ट को सिरे चढ़ाने के लिए संदीप सिंह विर्क निवासी यमुना नगर हरियाणा को अपने साथ मिला लिया। संदीप सिंह विर्क ने अपने दोस्त सुखवीर राजू निवासी छप्पर हरियाणा, वरिंदर सिंह निवासी हमीदा यमुना नगर हरियाणा, अमित मितवा निवासी यमुना नगर हरियाणा, विक्रांत बग्गा निवासी यमुनानगर हरियाणा को साथ मिला लिया। यूसुफ खान ने हरियाणा के यमुनानगर से स्नातक की थी और वहां पर उसके ननिहाल भी थे, जिस कारण उसकी खासी पहचान थी।
एसएसपी हेयर के मुताबिक बलप्रीत कौर ने दो लाख पेशगी के तौर पर यूसुफ खान को भेज दिए थे। इसके बाद वरिंदर सिंह व यूसुफ खान ने यूपी से दो देसी रिवाल्वर खरीदे। 11 अप्रैल की रात को हत्या के आरोपी बिलगा पहुंच गए और यूसुफ खान ने फोन पर बलप्रीत से बात की। बलप्रीत ने बताया कि उसका पति गुरप्रीत आज अपनी मां प्रीतम कौर के साथ सोया हुआ है। इसके बाद हत्यारे दीवार फांदकर घर में दाखिल हो गए और उन्होंने गुरप्रीत के छोटे नाम बिंदर बोलकर आवाज लगाई। उन्हें उम्मीद थी कि दरवाजा गुरप्रीत खोलेगा लेकिन दरवाजा प्रीतम कौर ने खोल दिया। हत्यारे अंदर दाखिल हो गए और प्रीतम कौर उनके साथ उलझ गई, जिसके बाद हत्यारों ने प्रीतम कौर को गोली मार दी और दीवार फांदकर भाग गए।
पुलिस ने इस मामले में यूसुफ खान, सुखवीर और वरिंदर सिंह को गिरफ्तार कर लिया जबकि इस मामले में बाकी आरोपी फरार हैं। इस मामले में कनाडा में रहने वाली बलप्रीत कौर को हत्या की साजिश रचने की धारा में शामिल कर लिया गया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

लेडी खली कविता ने खोला राज, बताया कैसे पहुंची WWE तक

WWE में पहुंचनेवाली पहली भारतीय महिला कविता देवी ने अपने इंटरव्यू में की कई अहम मुद्दों पर खुलकर बात। कविता ने बताया कि उन्हें द ग्रेट खली से कितना सपोर्ट मिला और उन्हें ट्रेनिंग के कितने कड़े शेड्यूल से होकर गुजरना पड़ा।

21 अक्टूबर 2017