पावरकट से इंडक्शन इंडस्ट्री के 450 कारखानों पर ग्रहण

Jalandhar Updated Tue, 31 Jul 2012 12:00 PM IST
जालंधर। इंडक्शन और फर्नेंस इंडस्ट्री पर सप्ताह में चार दिन का कट लगाने से हाहाकार मच गई है। पूरे देश में सप्लाई होने वाली पाइप फिटिंग और आटो पार्ट्स इंडस्ट्री का मुख्य केंद्र जालंधर हैं। सप्ताह में चार दिन का पावर कट लगने से करीब 450 इंडस्ट्री को ग्रहण लग गया है और इसका असर पूरे देश को हो रहा है।
जालंधर में पाइप फिटिंग की 300 और आटो पार्ट्स की करीब 150 इकाइयां हैं। इनमें लोहे को ढालकर पाइप फिटिंग और आटो पार्ट्स तैयार करके महाराष्ट्र, कोलकाता, दक्षिण भारतीय, मध्य प्रदेश आदि में सप्लाई होती है। लोहे की ढालने के लिए इंडक्शन का इस्तेमाल किया जाता है। एक तो लेबर का संकट और ऊपर से पावरकट के झटके ने इंडस्ट्री की कमर तोड़कर रख दी है। हालात यह है कि व्यापारियों के करोड़ों रुपये फंसे हुए हैं और सारा कारोबार ठप होकर रह गया है। उद्यमी जहां नए आर्डर नहीं ले रहे वहीं पुराना माल सप्लाई नहीं हो रहा है। इस वजह से लेनदेन रुक सा गया है।

माल 20 फीसदी हो जाएगा महंगा : भसीन
गदईपुर इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के प्रधान तजिंदर भसीन के मुताबिक अगर इंडस्ट्री चार दिन बंद रहती है तो जालंधर में तैयार होने वाले प्रोडक्ट्स 20 फीसदी महंगे हो जाएंगे। जालंधर पाइप फि टिंग व आटो पार्ट्स का मुख्य केंद्र हैं, इसका नुकसान पूरे देश को होगा। जब सप्ताह में तीन दिन इंडस्ट्री चलेगी और चार दिन लेबर फ्री रहेगी तो सारा खर्चा प्रोडक्ट के साथ ही जुड़ेगा।

एक दिन में 10 आर्डर रद : संजय
पाइप फिटिंग निर्माता संजय गुप्ता का कहना है कि एक दिन में उन्होंने 10 आर्डर रद कर दिए हैं। जहां उनके माल की सप्लाई होती है, पार्टियां झगड़ा कर रही हैं। माल की सप्लाई नहीं होगी तो पिछला बकाया भी रुक जाएगा। इस समय उद्योग पर संकट के बादल छा गए हैं, जल्द ही हल नहीं निकाला गया तो इंडस्ट्री तबाह हो जाएगी।

तबाह हो जाएंगी इंडस्ट्री : हर्ष
पाइप फिटिंग एसोसिएशन के महासचिव हर्ष गुप्ता का कहना है कि हमारी करीब 300 इंडस्ट्री बिल्कुल तबाह हो जाएगी। लेबर को काम नहीं मिलेगा तो दौड़ जाएगी। इंडक्शन इंडस्ट्री के साथ सरकार सौतेला व्यवहार कर रही है। सरकार को मॉल्स और होटलों पर भी ध्यान देना चाहिए, सारा बोझ इंडस्ट्री कैसे वहन कर सकती है। बिजनेस टूर पर कोलकाता गए हर्ष गुप्ता का कहना है नियमित समय पर माल की सप्लाई न होने से सारा बिजनेस ठप हो जाएगा।

पंजाब की साख खतरे में : सग्गू
जालंधर फोकल प्वाइंट एक्सटेंशन के प्रधान नरिंदर सग्गू का कहना है कि अब पंजाब की गुडविल को खतरा है। यहां पर दूसरे राज्यों से लोग मेहनत मजदूरी के लिए आते हैं और इंडस्ट्री 75 फीसदी माइग्रेंट लेबर पर निर्भर है। जब चार दिन इंडस्ट्री बंद रहेगी तो श्रमिक दूसरे राज्यों का रुख करेंगे, इससे पंजाब की साख कोे खतरा है।

Spotlight

Related Videos

लेडी खली कविता ने खोला राज, बताया कैसे पहुंची WWE तक

WWE में पहुंचनेवाली पहली भारतीय महिला कविता देवी ने अपने इंटरव्यू में की कई अहम मुद्दों पर खुलकर बात। कविता ने बताया कि उन्हें द ग्रेट खली से कितना सपोर्ट मिला और उन्हें ट्रेनिंग के कितने कड़े शेड्यूल से होकर गुजरना पड़ा।

21 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper