मरीज की मौत से भड़के परिजनों ने किया हंगामा

Jalandhar Updated Tue, 12 Jun 2012 12:00 PM IST
फगवाड़ा। 11 जून (अश्वनी दसौड़)। ईएसआई अस्पताल में इलाज करवा रहे एक प्रवासी श्रमिक की मौत होने पर उसके आक्रोशित साथियों और परिजनों ने जमकर हंगामा किया व अस्पताल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। बाद में मृतक की लाश को जीटी रोड पर रखकर यातायात जाम कर दिया और अस्पताल के एसएमओ व एमओ के खिलाफ नारेबाजी कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की गई।
हंगामे की सूचना मिलते ही डीएसपी अश्वनी कुमार, थाना सिटी प्रभारी सरवण सिंह बल्ल, थाना सदर प्रभारी रविंदर सिंह, सतनामपुरा प्रभारी करनैल सिंह पुलिस फोर्स समेत मौके पर पहुंचे। फगवाड़ा के तहसीलदार विपन भंडारी ने मौके पर पहुंचकर शव को जीटी रोड से हटा कर प्रदर्शनकारियों को मनाया। मुख्य संसदीय सचिव सोम प्रकाश भी घटना स्थल पर पहुंचे तथा मृतक के परिजनों से संवेदना व्यक्त की। उन्होंने ईएसआई प्रबंधन को कड़ी लताड़ लगाई। उन्होंने साफ किया कि डाक्टर अपने व्यवहार तथा प्रबंधन में सुधार लाएं अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहें।
जानकारी के अनुसार शाम नगर, गली नंबर पांच का अशोक कुमार पुत्र हरिहर प्रसाद 2 जून से दिमागी बुखार से पीड़ित था उसे ईएसआई अस्पताल में भर्ती करवाया गया। अशोक की तबीयत देखकर उसे जालंधर रेफर कर दिया गया। अशोक के परिजनों का कहना है कि जांलधर अस्पताल वाले अभी एक सप्ताह और भर्ती रखने को कह रहे थे, लेकिन डाक्टर ने इनको जबरदस्ती बुला लिया। जहां से उसको एक दिन पहले वापस ले आए। अशोक के भाई अरुण कुमार ने बताया कि अशोक की हालात में कोई सुधार नहीं हो रहा था। उन्होंने आज बार बार उनको फिर रेफर करने की बात डाक्टर से कही, लेकिन उन्होंने उनकी एक न सुनी। डा. टंडन उनको बार-बार कहते रहे कि एसएमओ से पूछे बिना वह रेफर नहीं कर सकते। परिजनों का आरोप था कि अशोक की आज सुबह करीब 9 बजे मौत हो गई। अशोक की मौत के लिए डाक्टर आरोपी हैं।
मौके पर भाजपा नेता प्रमोद मिश्रा, राम चंद्र सिंह, मिंटु कुमार, सुनील पांडे, शिव सेना (बाल ठाकरे) के इंद्रजीत करवल, कुलदीप दानी, अश्वनी चंबा, पूर्व पार्षद प्रमोद जोशी, इंद्रजीत सोनकर, जगनाहर सिंह भी मौके पर पहुंचे। आक्रोशित लोगों ने पहले ईएसआई अस्पताल में रोष प्रदर्शन किया। बाद में वे शव लेकर जीटी रोड पर पहुंच गए तथा यातायात जाम कर धरना लगा कर बैठ गए।
फगवाड़ा के डीएसपी अश्वनी कुमार, तहसीलदार विपन भंडारी मौके पर पहुंचे। प्रदर्शनकारियों से बातचीत करते विपन भंडारी ने कहा कि मामले संबंधी लिखित शिकायत दी जाए तो कार्रवाई की जाएगी। उनके मनाने पर प्रदर्शनकारी शव जीटी रोड से हटाने को तैयार हो गए। बाद में शव ईएसआई अस्पताल ले गए व धरने पर बैठ गए। पंजाब के मुख्य संसदीय सचिव सोम प्रकाश ने कहा कि संबंधित अधिकारी से जांच रिपोर्ट मांगी है, उसके बाद कार्रवाई की जाएगी। उनके साथ भाजपा मंडलाध्यक्ष अरुण खोसला, जिला अध्यक्ष राकेश दुगगल, शिरोमणि अकाली दल बादल के ओम प्रकाश बिट्टू भी थे।



Spotlight

Most Read

Ballia

अभाविप ने फूंका केरल सरकार का पुतला

कार्यकर्ता की हत्‍या के विरोध में फूटा गुस्सा

21 जनवरी 2018

Related Videos

लेडी खली कविता ने खोला राज, बताया कैसे पहुंची WWE तक

WWE में पहुंचनेवाली पहली भारतीय महिला कविता देवी ने अपने इंटरव्यू में की कई अहम मुद्दों पर खुलकर बात। कविता ने बताया कि उन्हें द ग्रेट खली से कितना सपोर्ट मिला और उन्हें ट्रेनिंग के कितने कड़े शेड्यूल से होकर गुजरना पड़ा।

21 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper