मेयर को लेकर जोड़-तोड़ शुरू

Jalandhar Updated Mon, 11 Jun 2012 12:00 PM IST
जालंधर। नगर निगम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल का परचम लहराने के बाद अब भाजपा नेताओं में मेयर की कुर्सी को लेकर जोड़तोड़ शुरू हो गई है। वहीं इस बार शिअद की इच्छा भी है कि जालंधर के मेयर की कुर्सी उनको सौंप दी जाए। पार्टी के वरिष्ठ नेता व जालंधर नगर निगम चुनावों के इंचार्ज सेवा सिंह सेखवां इस बारे में पहले ही बयान जारी कर चुके हैं कि जालंधर में शिअद का मेयर बनेगा। इसको लेकर भाजपा नेताओं द्वारा तीखी प्रतिक्रिया जारी की जा चुकी है। हाल ही में भाजपा नेताओं ने दावा किया गया था कि जालंधर में मेयर की कुर्सी उनके पास ही रहेगी।
उधर, मेयर की कुर्सी को लेकर भाजपा के तीन पार्षदों में कांटे की टक्कर है। भाजपा के प्रदेश रवि महेंद्रू लगातार दूसरी बार जीते हैं और उन्होंने वार्ड 38 से जीत हासिल की है। रवि महेंद्रू पिछली बार 2007 में मेयर की कुर्सी के बिलकुल निकट थे, लेकिन राकेश राठौर ने उनका गणित बिगाड़ दिया था। अब वह इस कुर्सी के लिए प्रबल दावेदार हैं। वहीं जिला युवा भाजपा के प्रधान मिंटा कोछड़ भी इस पद के बड़े दावेदार हैं। मिंटा कोछड़ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की पहली पसंद बताए जाते हैं। आरएसएस ने ही इस बार उनकोे वार्ड 27 से टिकट दिलाकर मैदान में उतारा था। पहली बार चुनावों में उतरे मिंटा कोछड़ ने भाजपा की हार का बदला लिया। वार्ड 27 से आजादी के बाद हर बार भाजपा जीतती आ रही थी, लेकिन 2007 में इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा हो गया। इस बार मिंटा ने दोबारा सीट को भाजपा की झोली में डालकर संघ के नेताओं का दिल जीत लिया है।
तीसरे बड़े दावेदार सुनील ज्योति उर्फ बिल्लू है, जो लगातार दूसरी बार पार्षद बने हैं। मुख्य संसदीय सचिव केडी भंडारी का दाहिना हाथ माने जाने वाले बिल्लू ने इस बार जीत दो हजार से अधिक मतों से जीत हासिल की है। बिल्लू व भंडारी में अच्छा तालमेल उनको मेयर की कुर्सी के करीब ला रहा है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

लेडी खली कविता ने खोला राज, बताया कैसे पहुंची WWE तक

WWE में पहुंचनेवाली पहली भारतीय महिला कविता देवी ने अपने इंटरव्यू में की कई अहम मुद्दों पर खुलकर बात। कविता ने बताया कि उन्हें द ग्रेट खली से कितना सपोर्ट मिला और उन्हें ट्रेनिंग के कितने कड़े शेड्यूल से होकर गुजरना पड़ा।

21 अक्टूबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls