पांच पुलिस अधिकारियों पर केस दर्ज

Firozpur Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
फिरोजपुर। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक सुमेध सिंह सैनी के आदेश पर थाना सदर पुलिस ने दो पूर्व एसएसपी समेत पांच वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बताया गया है कि इन अधिकारियों ने रंजिश के कारण पटियाला निवासी पटवारी मोहन सिंह को प्रताड़ना देने के अलावा परेशान किया। डीजीपी सैनी के आदेश पर पूर्व एसएसपी शिव कुमार शर्मा, एसएसपी जसपाल सिंह, पूर्व एसपी बनारसी दास, पूर्व एसपी सुरिंदर पाल सिंह व इंस्पेक्टर ईशर सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया है।
मोहन सिंह ने बताया कि नवंबर 2009 में वह फतेहगढ़ साहिब के गांव रूढ़की में पटवारी के पद पर तैनात था। उस समय शिव कुमार शर्मा ने इसी गांव में तीन एकड़ जमीन ली और उसकी फर्द मांगी। इस पर पटवारी ने एसएसपी से सरकारी फीस 20 रुपये मांग ली। जो उन्हेें नागवार लगा। एसएसपी शर्मा ने इंस्पेक्टर ईशर सिंह की ड्यूटी लगाई कि पटवारी मोहन की जायदाद की पड़ताल करें। मोहन ने बताया कि वह पटियाला के गांव भंडप्रा में अपने पिता बचन सिंह के साथ रहता था। इंस्पेक्टर ईशर ने वहां भी जायदाद की छानबीन शुरू कर दी। तंग आकर मोहन ने 2010 को मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को पत्र भेजकर शिकायत दी। शिकायत के बाद शर्मा और खफा हो गया। पटवारी ने बताया कि इस बीच शर्मा ने 14 बिस्वा पंचायत की जमीन ली और उसे अपने नाम करवाने की बात कही। इस पर पटवारी ने कहा कि जब तक बेचने वाला रजिस्ट्री नहीं करेगा जमीन उनके नाम नहीं होगी। उसके बाद शर्मा ने अपने बेटे मोहित शर्मा के नाम जमीन का इंतकाल करने को कहा। लेकिन पटवारी ने ऐसा करने से साफ इनकार कर दिया। इसी रंजिश को लेकर शर्मा ने पटवारी के घर विजिलेंस के पूर्व एसपी सुरिंदर पाल सिंह को आईबी का डायरेक्टर बनाकर भेजा और सुरिंदर ने पटवारी पर दबाव बनाया कि शर्मा के खिलाफ की गई शिकायतें वापस ले। इसके बाद शर्मा ने विजिलेंस के तत्कालीन एसपी जसपाल सिंह के साथ मिलकर मल्लांवाला (फिरोजपुर) स्थित पनसप गोदाम से धान की चोरी हुई 40 हजार बोरियों के मामले में पटवारी मोहन सिंह को भी शामिल कर लिया। इस मामले में दस फरवरी को पटवारी को उसके घर से उठाकर ले गए। इस पूरी घटना के बाद पटवार यूनियन ने रोष प्रदर्शन किए। तब प्रदेश के विजिलेंस के डीजीपी सुमेध सिंह सैनी ने इस मामले की जांच की। सैनी ने अपनी तहकीकात में पूर्व एसपी बनारसी दास, पूर्व एसएसपी शिव कुमार शर्मा, पूर्व एसपी सुरिंदर पाल सिंह, एसएसपी जसपाल सिंह व इंस्पेक्टर ईशर सिंह को आरोपी ठहराया था। बताया गया कि मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा इन अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की हरी झंडी देने पर प्रदेश के डीजीपी सुमेध सिंह सैनी के आदेश पर मामला दर्ज किया गया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

दावोस पीएम मोदी की तारीफ में सुपरस्टार शाहरुख खान ने पढ़े कसीदे

दावोस में 'विश्व आर्थिक मंच' सम्मेलन में बच्चों और एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने के लिए क्रिस्टल अवॉर्ड से नवाजे गए बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान..

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls