विज्ञापन
विज्ञापन

मानव रहित रेलवे क्रासिंग लील रही जिंदगियां

Firozpur Updated Tue, 31 Jul 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
फिरोजपुर। पंजाब में बिना गार्ड वाले रेलवे क्रॉसिंगों पर आए दिन होने वाले हादसों में अनेक जानें जा चुकी हैं इसके बावजूद इन गेटों पर फाटक लगाने की कोशिश नहीं की जा रही है। सोमवार को अमृतसर में ट्रेन से स्कूल वैन टकराने की घटना समेत अब तक पंजाब में तकरीबन आठ स्कूल वैनें ट्रेनों की चपेट में आ चुकी हैं। रेलवे का सेफ्टी विभाग मोबाइल फोन पर ऐसे गेटों से गुजरने की जानकारी देने का दावा करता है, जो बिल्कुल झूठ है। पिछले कुछ महीनों से सेफ्टी अधिकारी ने गांव-गांव जाकर लोगों को ऐसे गेटों की जानकारी देने के लिए कार्यक्रम भी आयोजित नहीं किए हैं। सिर्फ वातानुकूलित चैंबरों में बैठ कर कागजों में कार्यक्रम चला रहे हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
ऐसे गेटों पर पंजाब में पिछले लगभग सात सालों में तकरीबन 90 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी हैं। इन हादसों में आठ स्कूलों की वैनें शामिल हैं। ऐसी घटनाओं में रेल प्रशासन खुद की गलती स्वीकार नहीं करता है, चाहे ट्रेन चालक नियमों की पालना न करे। रेलवे का नियम है कि जितनी जमीन उसने रेल पटरी के लिए ली है उसके भीतर कोई भी प्रवेश न करे। यदि करता है तो खुद जिम्मेदार होगा और उस पर रेलवे एक्ट के अधीन परचा दर्ज होता है।
रेलवे के कई सेक्शनों पर बने मानव रहित फाटकों की ऊंचाई व उस पर लगी ईंटें सही तरह से नहीं लगी हैं। कई बार वाहन वहां से गुजरते समय फंस जाते हैं और ट्रेन की चपेट में आ जाते हैं। 2011 में फिरोजपुर-फाजिल्का सेक्शन पर बने गांव थेहकलंदर के रेलवे क्रॉसिंग फाटक पर लगी सीमेंट की ईंटों की बुरी हालत थी। जगह-जगह से टूटी थी, जिस कारण यहां पर स्कूली आटो फंसने से ट्रेन से टकरा गया और चार बच्चों की मौत हो गई थी। फिर भी रेलवे अपना कसूर स्वीकार नहीं करती। रेलवे मानव रहित फाटकों के पास कई सावधायिों के बारे बार्ड लगाए हैं, लेकिन वहां से गुजरने वाली ट्रेनों के समय नहीं हैं। इसके अलावा कई बार यहां से मालगाड़ियां गुजरती हैं। कई बार अकेले इंजन गुजरते हैं। ऐसा कोई यंत्र मानव रहित फाटकों पर नहीं लगा जिससे लोगों को संकेत मिल सके की ट्रैक पर रेलगाड़ी आ रही है।
पंजाब में 465 मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग गेट
फिरोजपुर। रेल डिवीजन फिरोजपुर में तकरीबन 1554 मानव सहित व रहित रेलवे क्रॉसिंग फाटक हैं। इनमें से 509 मानव रहित हैं। इनमें से 44 मानव रहित फाटकों को मानव सहित किया गया है। पंजाब में 465 मानव रहित फाटक की संख्या है।
गेट लगाने पर तीन करोड़ रुपये का खर्च
फिरोजपुर। इंजीनियरिंग अधिकारी बताते हैं कि एक मानव रहित फाटक को मानव सहित करने पर ढाई से तीन करोड़ रुपये का खर्च आता हैं। इसमें स्टाफ का वेतन भी शामिल है। यदि कोई सरकार किसी मानव रहित फाटक को सहित करवाना चाहती है तो उसे रेल प्रशासन को पैसा देना होता है।
25 घटनाएं, 90 मरे व 166 जख्मी
फिरोजपुर। पंजाब में मानव रहित फाटकों पर पिछले सात वर्षों में 25 घटनाओं में 90 लोगों की मौत हुई और 166 लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। मरने वालों में 33 नन्हे-मुन्ने स्कूली बच्चे हैं। ऐसी घटनाएं कई लोगों के घर का चिराग बुझा चुकी है।
कभी नहीं मिली ट्रेन चालकों को सजा
फिरोजपुर। नियम है मानव रहित क्रॉसिंग फाटक से कुछ दूरी से चालक को ट्रेन का सायरन बजाना चाहिए। वहां से गुजरने की रफ्तार भी निश्चित है। लेकिन जब ऐसे हादसे होते हैं तो ये सब कुछ नहीं देखा जाता। यदि कोई देखता भी है तो अभी तक किसी चालक को ऐसे केसों में सजा नहीं मिली है।

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
ज्योतिष समाधान

शनि जयंती के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर एग्जिट पोल में भाजपा को 50 से ज्यादा सीटें

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए आखिरी चरण का मतदान संपन्न होते ही एग्जिट पोल सामने आ गए है। उत्तर प्रदेश में छह में से पांच एग्जिट पोल में भाजपा को 50 से ज्यादा सीटें।

19 मई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election