रिक्शा में भेजे जा रहे गुरबाणी के गुटके पकड़े

Amritsar Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
अमृतसर। गुरु नगरी के एक प्रकाशक की ओर से गत्ते के डिब्बों में बंद कर रिक्शा से भेजे जा रहे गुरबाणी के गुटकों को श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी के कार्यकर्ताओं ने पकड़ लिया। इन गुटकों को पुलिस के हवाले कर दिया गया। लेकिन कार्रवाई को उस समय विराम लग गया जब श्री अकाल तख्त साहिब की एक टीम मौके पर पहुंची और सारे गुटकों को एसजीपीसी की गाड़ी में रख एसजीपीसी कार्यालय पहुंचा दिया। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ कोई भी कानूनी कार्रवाई न किए जाने पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी की ओर से रोष प्रकट किया गया।
रविवार देर शाम करीब 7 बजे अमृतसर के एक पुस्तक प्रकाशक की ओर से गत्ते के डिब्बों में गुरबाणी के गुटके पैक करके रिक्शा पर भेजे जा रहे थे। यह गुटके दिल्ली पंजाब गुडस कैरियर के माध्यम से भेजे जाने थे। श्री गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी मुच्छल ग्रुप के वर्करों को जब इस का पता चला तो वर्करों ने गुरबाणी के गुटकों को मर्यादा को नजरअंदाज करके ले जाने पर कड़ी आपत्ति प्रकट की और रिक्शा रोक कर पुलिस को बुला लिया। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। कमेटी के सदस्य ट्रांसपोर्ट कंपनी के कार्यालय के बाहर ही गुटकों की रक्षा के लिए बैठ गए। मामले की गंभीरता को देखते हुए कोतवाली पुलिस के अधिकारियों ने एसजीपीसी को सूचित किया। इसके बाद श्री अकाल तख्त साहिब पर तैनात एक पदाधिकारी एसजीपीसी की टास्क फोर्स के कर्मचारियों को लेकर मौके पर पहुंचा और सारे गुटके एसजीपीसी की गाड़ी में रख कर एसजीपीसी कार्यालय भेज दिया। मौके पर मौजूद थाना कोतवाली पुलिस के प्रभारी सुखविंदर सिंह से जब इस बारे में कानूनी कार्रवाई संबंधी पूछा गया तो उन्होंने कहा कि श्री अकाल तख्त साहिब या एसजीपीसी जो कहेगी उसके अनुसार कार्रवाई होगी। मामले के संबंध में सत्कार कमेटी के सदस्यों सुखपाल सिंह, सतनाम सिंह और परमजीत सिंह ने कहा कि पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की जगह उल्टा उनके खिलाफ कार्रवाई की धमकियां दी हैं। उन्होंने कहा कि अगर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई न हुई तो वह आंदोलन शुरू कर देंगे। वहीं श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार के निजी सहायक इंद्रमोहन सिंह का कहना है कि मामला एसजीपीसी के पास है अब एसजीपीसी ही इस पर विचार करेगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, पांच साल की सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

इन बच्चियों ने समझाए 'लोहड़ी' के असल मायने

वैसे तो लोहड़ी का त्योहार देश के कई इलाकों में मनाया जाता है लेकिन पंजाब में लोहड़ी की एक अलग ही छटा दिखाई देती है।

13 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls