लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Firozabad Fire: बर्थडे पार्टी में जाने की थी तैयारी, आग में जल गईं खुशियां, लपटों के बीच घर से निकाले गए छह शव

संवाद न्यूज एजेंसी, फिरोजाबाद Published by: मुकेश कुमार Updated Wed, 30 Nov 2022 06:34 PM IST
अग्निकांड के मृतकों की तस्वीरें
1 of 6
विज्ञापन
फिरोजाबाद के कस्बा पाढ़म में मंगलवार की रात रमन प्रकाश राजपूत के दो मंजिला मकान में लगी आग इतनी भीषण थी कि परिवार के लोगों को बचने का मौका तक नहीं मिला। शाम साढ़े छह बजे तक परिवार में खुशी का मौहाल था। बच्चे और महिलाएं जन्मदिन पार्टी में जाने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन घर में लगी आग में छह लोग जिंदा जल गए। सारी खुशियां राख हो गईं। लपटों के बीच एक के बाद एक जब शव निकाले गए तो लोगों का कलेजा कांप गया। सभी शव बुरी तरह से जले हुए थे। मृतकों में तीन माह की बच्ची सहित तीन बच्चे भी थे। 

रमन प्रकाश राजपूत के दो मंजिला मकान में शॉर्ट सर्किट के कारण भीषण आग लग गई थी। आग में जलकर रमन प्रकाश के बड़े बेटे मनोज कुमार (35),  पुत्रवधू नीरज (35) , दोनों नाती हर्ष (12) और भरत (8), छोटे बेटे नितिन कुमार की पत्नी शिवानी (32), उनकी पुत्री तेजस्वी (6 माह) की मौत हो गई। पुलिस ने लोगों की मदद से शवों को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। बुधवार को एक ही चिता पर सभी का अंतिम संस्कार किया गया। 
मनोज के बेटे हर्ष और भरत
2 of 6
मनोज की पांच वर्ष की बेटी उन्नति के दांत में दर्द होने पर उसे दिखाने ले गया था। आग लगने का समाचार मिला तो घर पहुंच गया। उन्नति को बाहर छोड़कर आग में फंसे लोगों को निकालने के लिए घर के अंदर घुस गया। घर के अंदर गया मनोज न तो किसी को बाहर निकाल पाया और न ही खुद सुरक्षित निकल सका। 
विज्ञापन
घर में लगी थी भीषण आग
3 of 6
बुधवार को मनोज के ताऊ परिवार में जन्मदिन पार्टी थी। सभी को उसमें शामिल होना था। इसके लिए महिलाएं और बच्चे तैयारी कर रहे थे। मनोज पांच वर्ष की बेटी उन्नति के दांत में दर्द होने पर उसे दिखाने ले गया था। मनोज के लौटने से पहले ही घर में भीषण आग लग गई। परिवार के सदस्य पहली मंजिल पर फंस गए। 
रमन प्रकाश और नितिन को संभालते रिश्तेदार
4 of 6
आग लगने की जानकारी मिलते ही मनोज घर पहुंचा। उन्नति को बाहर छोड़कर आग में फंसे लोगों को निकालने के लिए घर में घुस गया, लेकिन वापस नहीं आ सका। रात करीब 11 बजे तक सभी शवों को घर से बाहर निकाला जा सका। रात में ही शवों को पोस्टमार्टम कराया गया। 
विज्ञापन
विज्ञापन
घर में लगी थी भीषण आग
5 of 6
हादसे के समय महिलाएं और बच्चे घर पर मौजूद थे। नितिन एक दावत कार्यक्रम में शामिल होने गया था। पिता रमन प्रकाश अपनी गोशाला में चले गए। स्थानीय लोगों ने बताया कि रमन प्रकाश रोज सोने के लिए गोशाला में ही जाते थे। दोनों लोग घर से बाहर थे, इसलिए उनकी जान बच गई। 
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00