लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

UNICEF India: बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं ये चार बातें, यूनिसेफ ने अभिभावकों को दी सलाह

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: शिवानी अवस्थी Updated Tue, 06 Dec 2022 05:26 PM IST
मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करने के उपाय
1 of 8
विज्ञापन
UNICEF India: बच्चों का मन मस्तिष्क बहुत मासूम होता है। वह जो देखते हैं, समझते हैं, वही सीखते हैं। उनकी सीखने की प्रवृत्ति बहुत तेज होती है। ऐसे में बाल मन पर पड़ने वाला प्रभाव उनके व्यवहार पर भी असर डालता है। किशोर/ किशोरियों के व्यवहार में एक उम्र के बाद बदलाव आना शुरू होता है। कई ऐसे मामले सामने आएं है, जिसमें किशोर आपराधिक प्रवृत्ति की ओर चले जाते हैं या उनके बाल मन पर गलत व्यवहार आने लगता है। उनकी मानसिक सेहत पर असर होने पर वह गलत व्यवहार करने लगते हैं। क्रोध, झूठ बोलना, चोरी या अपशब्दों का उपयोग करने लगते हैं। ऐसे में बाल मस्तिष्क को सेहतमंद रखने के लिए कुछ तरीकों को अपना सकते हैं। यहां यूनिसेफ ने मानसिक स्वास्थ्य को मजबूत बनाने के लिए कुछ टिप्स दिए हैं। बच्चों से उनका हालचाल जानने के साथ ही आपको हमेशा इन चार बातों का ध्यान रखना चाहिए।
मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करने के उपाय
2 of 8
भावना साझा करने के लिए प्रेरित करें
 
  • बच्चों को घुलने मिलने का मौका दीजिए। उनके दिन के बारे में पूछें और किसी काम में मदद के लिए भी बुला सकते हैं। इस दौरान उनसे बातचीत करें।
  • बच्चे को भरोसा दिलाएं कि आप उनके साथ हैं। उन्हें बताएं कि आप उनके लिए क्या महसूस करते हैं और क्या सोचते हैं। बच्चे को प्रोत्साहित करने वाले शब्द बोलकर अपनी भावनाएं साझा करें।
विज्ञापन
मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करने के उपाय
3 of 8
  • किशोर के मनोभावों को समझें। वह क्या महसूस करते हैं, इसे स्वीकार करें, भले ही आपको उनकी सोच असहज लग रही हो। उसके खुलकर बात करें कि आप उन्हें समझते हैं।
  • अगर आपको कोई बात पसंद नहीं है तो उन्हें धैर्य से ये बात समझाएं। वहीं उनके कुछ करने पर आपको खुशी होती हैं तो उसे भी साझा करें।
मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करने के उपाय
4 of 8
मदद के लिए समय निकालें
 
  • किशोर/किशोरियों के साथ मिलकर नई दिनचर्या और संभव दैनिक लक्ष्य तय करें। स्कूल के काम क बीच घर के काम से भी जोड़ें और रात के खाने से पहले घर के कामों को पूरा करने का लक्ष्य रखें।
  • किशोरावस्था का मतलब आजादी से है। इसलिए किशोर होते बच्चों को खुद के लिए पर्याप्त समय और स्थान दें।
  • बच्चों के लिए कुछ ऐसी गतिविधियां सोचें, जो उन्हें अपने मन का करने का मौका दे सके। किशोर हताश हो रहा है तो उनके साथ विचार विमर्श करके समस्या हल खोजें।
विज्ञापन
विज्ञापन
मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर करने के उपाय
5 of 8
विवादों का निपटारा
 
  • किशोर के विचारों को सुनें और ठंडे दिमाग से उसे हल करें। ध्यान रखें कि आप के साथ वह भी तनावग्रस्त हो सकते हैं।
  • अगर क्रोध में हों तो किसी मुद्दे पर उनसे बात न करें। वहां से हट जाएं, गहरी सांस लें और खुद को शांत करें। बाद में उस विषय पर बच्चे से बात कर सकते हैं।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें  लाइफ़ स्टाइल से संबंधित समाचार (Lifestyle News in Hindi), लाइफ़स्टाइल जगत (Lifestyle section) की अन्य खबरें जैसे हेल्थ एंड फिटनेस न्यूज़ (Health  and fitness news), लाइव फैशन न्यूज़, (live fashion news) लेटेस्ट फूड न्यूज़ इन हिंदी, (latest food news) रिलेशनशिप न्यूज़ (relationship news in Hindi) और यात्रा (travel news in Hindi)  आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़ (Hindi News)।  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|

विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00