लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन

KCR Attacks Modi: तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने पीएम को क्यों कहा सेल्समैन? 10 पॉइंट में केसीआर के मोदी पर हमले

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: हिमांशु मिश्रा Updated Sat, 02 Jul 2022 06:48 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ केसीआर
1 of 5
तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलावर हैं। हैदराबाद में विपक्ष के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के लिए प्रचार करते हुए केसीआर ने पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। कई गंभीर आरोप लगाए। केसीआर ने यशवंत सिन्हा के सामने ही प्रधानमंत्री को सेल्समैन, तानाशाह, झूठा, खुद की तारीफ करने वाला तक बोल गए। 

 हमेशा तेलुगु में बोलने वाले केसीआर ने ये पूरा भाषण हिंदी में दिया। वह भी धारा प्रवाह। एक बार जब उन्होंने मंच से भाषण देना शुरू किया तो 58 मिनट तक बोलते ही रहे। अपने भाषण के दौरान केसीआर ने 43 बार प्रधानमंत्री का जिक्र किया। हर बार उन्होंने आरोप लगाए और जवाब मांगा। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर अचानक केसीआर पीएम मोदी पर इतने हमलावर क्यों हो गए? वह भी तब जब खुद प्रधानमंत्री मोदी हैदराबाद में ही मौजूद थे। आइए जानते हैं...

पहले जानिए केसीआर ने क्या-क्या कहा? 
केसीआर
2 of 5
1. आज देश में सबकुछ गलत हो रहा: केसीआर ने कहा, “आज हमारे देश में क्या हो रहा है? जो कुछ भी हो रहा है वो गलत हो रहा है। गलत किया जा रहा है। ऐसे समय खामोश नहीं रहना चाहिए। हर किसी को इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। आज के हमारे प्रधानमंत्री हैदराबाद आने वाले हैं। दो दिन तक यहां रहने वाले हैं। गला फाड़-फाड़कर हमारे खिलाफ बोलने वाले हैं। पर कोई बात नहीं... लोकतंत्र है। जिसको जो समझ में आए कहे, जिसको जो बोलना है बोले। मैं तो बस इतना ही कहना चाहूंगा प्रधानमंत्री जी... जिस तरह से आप विपक्ष के नेताओं पर गलत आरोप लगाते हैं। उसी तरह हैदराबाद की अपनी बैठक में हमारे सवालों का जवाब भी दे दीजिएगा।”  

2. पीएम ने कोई वादा पूरा नहीं किया:  केसीआर ने कहा, “जब आप पहली बार प्रधानमंत्री चुने गए थे, तब आपने जनता से कई वादे किए थे। हम जानना चाहेंगे कि क्या आपने एक भी वादा पूरा किया है? मेरे समझ से तो एक भी वादा नहीं पूरा किया है। अगर हम टॉर्च और लाइट लेकर भी ढूंढें तो नहीं मिलेगा आपका काम।”

3. किसानों की आय नहीं बढ़ी, कर्ज में डूब गए: केसीआर ने कहा, “आपने किसानों की आय दोगुना करने के लिए कहा था, लेकिन आय तो नहीं बढ़ी, कर्ज जरूर बढ़ गया। किसानों ने अपने हक के लिए आंदोलन किया तो आपने उनपर गंदे-गंदे आरोप लगाए। उग्रवादी कहा, खालिस्तानी कहा... बाद में क्या हुआ। आपको हाथ जोड़कर किसानों से माफी मांगनी पड़ी।” 

4. आपकी तानाशाही बढ़ती जा रही है: केसीआर ने कहा, “प्रधानमंत्री जी आप आवाज ऊंची करके बात करते हो... जो मन में आए बोल देते हो... आगे ये नहीं चलेगा देश में। आपने कोई भी एक वादा पूरा नहीं किया। आप अपने आप की तारीफ करते हो। लेकिन दूसरी ओर आज हर चीज में देश का मान मर्यादा खत्म होती जा रही है। आपकी तानाशाही दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। जो देश के लिए खतरा है।” 

5. बहुत से प्रधानमंत्री आकर चले गए : केसीआर ने कहा, “देश में राजनीतिक परिवर्तन होगा। यहां कोई परमानेंट नहीं रहने वाला है। मोदी जी... आपसे पहले भी बहुत से प्रधानमंत्री आए। जनता जिनको मौका देती है, वो आते हैं और अपना काम करके चले जाते हैं। मोदी जी... मुझे लगता है कि आप भ्रम में हैं कि हम ही परमानेंट हैं। ये नेचुरल है। इस देश में लोकतंत्र है। आपको भी जाना होगा।” 
विज्ञापन
केसीआर
3 of 5
6. लोकतंत्र की हत्या कर रहे : केसीआर ने कहा, “प्रधानमंत्री जी... आप देश में क्या चला रहे हैं? कैसी नीतियां अपनाई जा रहीं हैं? हर तरफ से हिंदुस्तान बेहाल होता जा रहा है। किसान परेशान, बेरोजगार नौजवान परेशान, उद्योगपति परेशान... आपके एडमिनिस्ट्रेशन की गुणवत्ता क्या है? आप केवल संस्थाओं का मिस यूज कर रहे हैं। जो आपके विरोध में बोलता है उसे आप सताते हैं। लोकतंत्र की हत्या कर रहे हैं। राज्यों की सरकार गिराने में जुटे हैं। अब तक नौ सरकारें आपने गिराई हैं। इसका नतीजा क्या हो रहा है? पूरा हिंदुस्तान बेहाल है... कोई नहीं खुश है।” 

7. कोई खुश नहीं है : केसीआर ने कहा, “मोदी जी... आपकी सरकार आने के बाद से कोई खुश नहीं है। सिवाय आपके भाषणबाजी, झूठे प्रचार, अखबारी प्रचार के। मैं एक बार बताना चाहूंगा। नरेंद्र मोदी जी देश के 15वें प्रधानमंत्री हैं। इसके पहले 14 प्रधानमंत्री थे, लेकिन किसी के कार्यकाल में देश की मान मर्यादा इतना नहीं गिरी जितना मोदी जी के कार्यकाल में गिरी है।” 

8. आपकी वजह से देश को शर्मसार होना पड़ा : केसीआर ने कहा, “प्रधानमंत्री जी, अगर आपके खून में एक बूंद भी ईमानदारी है। सच्चाई है... तो एक सवाल कर रहा हूं उसका उत्तर दीजिए।  आपके खिलाफ श्रीलंका में क्यों जन आंदोलन चल रहा है? आपने श्रीलंका में जाकर प्रधानमंत्री नहीं बल्कि एक छोटे से व्यापारी के सेल्समैन की भूमिका निभाई। आपके कारनामों की वजह से आज देश को शर्मसार होना पड़ रहा है। सिर झुकाना पड़ रहा है। अगर आप थोड़े से भी ईमानदार हैं तो सामने आकर इसका जवाब दीजिए।” 

9. मेक इन इंडिया सफेद झूठ : केसीआर ने कहा, “आपने (प्रधानमंत्री मोदी) मेक इन इंडिया का नारा दिया था। मैं पूछना चाहूंगा कि क्या इसका कोई नतीजा निकला? आपके डर से, आपकी नीतियों से पूंजीपति अपने निवेश को लेकर देश से भाग रहे हैं। मेक इन इंडिया में कुछ नहीं हुआ। ये बिल्कुछ सफेद झूठ था।” 
 
10. अपने दोस्तों का सेल्समैन बनकर आप काम कर रहे : केसीआर ने कहा, “भारत में कोयला संसाधन काफी है। इसके बावजूद क्यों बाहर से इंपोर्ट किया जा रहा है? राज्यों पर दबाव डाला जा रहा है कि कोल इंडिया से तभी कोयला मिलेगा जब आप 10 प्रतिशत इंपोर्टेड कोयला खरीदोगे। हमने मना कर दिया। हमारे यहां खुद कोयला है। इसलिए मैं कहता हूं कि प्रधानमंत्री जी... आप प्रधानमंत्री नहीं बल्कि अपने साहूकार दोस्तों का सेल्समैन बनकर काम कर रहे हैं।”
 
केसीआर के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।
4 of 5
आखिर क्यों केसीआर के निशाने पर हैं पीएम मोदी? 
तेलंगाना में अगले साल यानी 2023 में विधानसभा चुनाव होने हैं। यहां भाजपा का काफी ज्यादा फोकस है। भाजपा तेजी से अपना जनाधार बढ़ा रही है। यही कारण है कि टीआरएस के मुखिया और तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर राव मोदी पर इतने हमलावर हैं। 

अगर भाजपा यहां मजबूत होती है तो इसका सबसे ज्यादा नुकसान केसीआर को ही होगा। 2020 में हुए हैदराबाद नगर निगम के चुनाव के नतीजे टीआरएस के लिए चिंताजनक थे। तब भाजपा ने 48 सीटों पर जीत हासिल की थी, जबकि टीआरएस के 55 प्रत्याशी जीते थे। महज चार साल के अंदर भाजपा ने चार से 44 सीटों तक का सफर तय किया था। 

वहीं, 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 17 लोकसभा सीटों में से चार पर जीत हासिल की। इसके पहले 2014 में भाजपा को यहां से सिर्फ एक सीट पर जीत मिली थी। भाजपा के बढ़ते जनाधार से सबसे ज्यादा नुकसान केसीआर को हो रहा है। अब 2023 विधानसभा चुनाव के लिए अभी से भाजपा ने तैयारी शुरू कर दी है। इस बार भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी हैदराबाद में ही हो रही है। भाजपा हैदराबाद से तेलंगाना ही नहीं, बल्कि दक्षिण के सभी राज्यों में फोकस करना चाहती है। 
 
विज्ञापन
विज्ञापन
केसीआर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
5 of 5
हिंदी में केसीआर ने क्यों दिया भाषण? 
एक दूसरी चर्चा ये भी है कि आखिर हमेशा तेलुगु बोलने वाले केसीआर ने हैदराबाद में अपने सांसद और विधायकों को संबोधित करते हुए हिंदी में ही भाषण क्यों दिया? इसे समझने के लिए हमने वरिष्ठ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव से बातचीत की। उन्होंने कहा, 'केसीआर पिछले दो साल से राष्ट्रीय स्तर का नेता बनने में जुटे हैं। राष्ट्रीय अखबारों और चैनलों में इसके लिए विज्ञापन दे रहे हैं। वह खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकल्प के तौर पर पेश करने में जुटे हैं। यही कारण है कि उन्होंने हैदराबाद में होते हुए भी हिंदी में ही भाषण देना ठीक समझा। उन्हें मालूम है कि देश पर राज करने के लिए उन्हें हिंदी भाषी प्रदेशों में अपना पैर जमाना पड़ेगा। यह तभी संभव होगा जब वह अपनी बात को लोगों तक समझा पाएंगे।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00