विज्ञापन

Tandav Review: अली अब्बास जफर के ‘तांडव’ की अभी तो ये अंगड़ाई है, आगे और लड़ाई है

Pankaj Shukla
पंकज शुक्ल
Updated Fri, 15 Jan 2021 12:33 PM IST
Tandav Review
1 of 9
कलाकार: डिंपल कपाड़िया, मोहम्मद जीशान अयूब, कृतिका कामरा, सुनील ग्रोवर, सारा जेन डायस, कुमद मिश्रा और सैफ अली खान।
लेखक: गौरव सोलंकी
सृजनकर्ता और निर्देशक: अली अब्बास जफर
रेटिंग: ***1/2
राजनीतिक षडयंत्रों की कहानियां रोचक होती हैं। जानी पहचानी सी लगती है। सुनी सुनाई सी भी लगती हैं। निर्माणाधीन सेंट्रल विस्टा के ठीक बगल वाली इमारत में बीते हफ्ते ही देश के शीर्षतम अधिकारियों में से एक से इन पर चर्चा हो रही थी। और, संक्रांति हो गई। वेब सीरीज ‘तांडव’ मनोरंजन की संक्रांति है। इसमें कुछ भी इस पार और उस पार नहीं है। न सब कुछ काला। न सब कुछ सफेद। फैज़ की वो नज़्म याद है, ‘सुब्ह ए आज़ादी’।  उसका मतला है, ‘ये दाग़ दाग़ उजाला ये शब-गज़ीदा सहर, वो इंतिज़ार था जिस का ये वो सहर तो नहीं’! दूर से सारे ढोल सुहाने हैं। एक शेर दिनेश ठाकुर का वो भी याद आता है कि, ‘हर हंसी मंज़र से यारों फासले कायम रखो, चांद जो धरती पे उतरा, देख के डर जाओगे..!’
अगली स्लाइड देखें
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X