लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Raveena Tandon: संघर्ष वाले दिन याद कर भावुक हुईं रवीना टंडन, बोलीं- बस में अजनबी लोग मेरे साथ...

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Published by: ज्योति राघव Updated Sun, 03 Jul 2022 03:25 PM IST
रवीना टंडन
1 of 4
विज्ञापन
अभिनेत्री रवीना टंडन सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। फिल्मी अपडेट के साथ-साथ वह अक्सर सामाजिक मुद्दों पर भी अपनी राय देती नजर आती हैं। एक बार फिर रवीना टंडन अपने चिर-परिचित अंदाज में नजर आईं। उन्होंने अपनी किशोर उम्र के उन संघर्ष भरे दिनों का जिक्र किया, जब वह लोकल ट्रेन और बस से सफर किया करती थीं। रवीना ने बताया कि इस दौरान वह कई अजनबियों की छेड़छाड़ का शिकार हुई हैं। दरअसल यह पूरी बात रवीना ने 'आरे मेट्रो 3 कारशेड' प्रोजेक्ट के मसले पर कही है। इसके बाद कुछ यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे तो रवीना ने उनका भी मुंह बंद करा दिया।
रवीना टंडन
2 of 4
आपको बता दें कि महाराष्ट्र इन दिनों लगातार चर्चा में है। कभी राजनीतिक उठा-पटक को लेकर तो कभी वहां चल रहे विकास प्रोजेक्ट्स को लेकर। हाल ही में एकनाथ शिंदे के रूप में महाराष्ट्र को नया मुख्यमंत्री मिल गया है। शिंदे के सीएम बनते के साथ ही एक मुद्दा फिर से चर्चा में आ गया है और यह मुद्दा है, 'आरे मेट्रो 3 कारशेड'। दरअसल इसे बनाने के लिए आरे जंगल को काटना पड़ेगा, जिसके खिलाफ सिर्फ आम जनता और नेता ही नहीं, बल्कि सिने सितारे भी सामने आ रहे हैं। अभिनेत्री रवीना टंडन भी उन्हीं में से एक हैं।
विज्ञापन
रवीना टंडन
3 of 4
दरअसल, रवीना टंडन प्रकृति प्रेमी हैं। वह हमेशा पर्यावरण के लिए आवाज उठाती नजर आती हैं। वह चाहती हैं कि 'मेट्रो 3 कार शेड' की वजह से जंगलों को नुकसान नहीं होना चाहिए। हाल ही में, जब एक यूजर ने रवीना टंडन से मुंबई के मिडिल क्लास के संघर्ष के बारे में पूछा, तो रवीना को अपनी किशोर उम्र के दिन याद आ गए। उन्होंने अपना दुख सुनाते हुए ट्वीट किया, 'टीनेजर्स के दिनों में, लोकल ट्रेन और बसों से सफर किया है। छेड़छाड़ का शिकार हुई, चुटकी ली गई और वह सब कुछ हुआ, जिससे ज्यादातर महिलाएं गुजरती हैं। मैंने साल 1992 में पहली कार खरीदी थी। विकास का स्वागत है। लेकिन, हम सिर्फ एक प्रोजेक्ट के लिए जिम्मेदार नहीं हैं, बल्कि जितने भी पर्यावरण/वन्यजीवों की सुरक्षा के स्थान जंगल हम काट रहे हैं, उन सभी के लिए हमें जिम्मेदार होना पड़ेगा।
रवीना टंडन
4 of 4
इस पर एक अन्य यूजर ने रवीना टंडन से पूछ लिया कि उन्होंने आखिरी बार लोकल ट्रेन में कब सफर किया, जो वह मेट्रो के खिलाफ हैं? इस पर रवीना ने एक बार फिर अपने साथ हुए शारीरिक शोषण का खुलासा किया। उन्होंने लिखा, '1991 तक मैंने इस तरह यात्रा की और एक लड़की होने की वजह से आप जैसे बिना नाम वाले ट्रोलर्स ने मुझे शारीरिक रूप से परेशान किया। काम शुरू करने से पहले मैंने सफलता देखी और अपनी पहली कार खरीदी। नागपुर के हो, हरा भरा है आप का शहर। किसी की सफलता या कमाई के बारे में मत सोचो।

 
विज्ञापन
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00