लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

रेप केस में आरोपी आलोक नाथ को मिल सकती है राहत, जानें क्या है वजह

एंटरटेनमेंट डेस्क, अमर उजाला Published by: Mishra Mishra Updated Sun, 11 Aug 2019 12:18 PM IST
Alok Nath
1 of 5
विज्ञापन
आलोक नाथ पर बीते दिनों मीटू कैंपेन के तहत टीवी स्क्रीन राइटर विनता नंदा ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। इस मामले में पुलिस ने विनता की शिकायत पर मुंबई पुलिस ने आलोक नाथ के खिलाफ केस दर्ज किया था। लेकिन अब इस मामले विनता की पक्ष हल्का लगने लगा है। 
alok nath, vinta nanda
2 of 5
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मुंबई पुलिस सबूतों के अभाव में क्लोजर रिपोर्ट कोर्ट में फाइल कर सकती है। विनता ने घटना की तो पूरी जानकारी दी लेकिन वो कथित अपराध की तारीख या महीना नहीं बता पाईं। जिसके बाद अब ये मामला हल्का पड़ता दिखाई दे रहा है।
विज्ञापन
alok nath vinta nanda
3 of 5
इधर आलोक नाथ के खिलाफ इस मामले में ठोस सबूत नहीं मिले हैं और इसलिए सबूतों के अभाव में अब पुलिस इस केस में कोर्ट में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल करने पर विचार कर रही है।
alok nath
4 of 5
रिपोर्ट के अनुसार मामले की जांच कर रहे ओशिवारा थाने के एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामले में पीड़िता का बयान दर्ज कर लिए गया है। केस से जुड़े दो गवाहों को बयान दर्ज कराने के लिए उन्हें कई बार बुलाया गया, लेकिन वह नहीं आए। 
विज्ञापन
विज्ञापन
आलोक नाथ
5 of 5
विनता ने आरोप लगाया है कि आलोक नाथ ने 20 साल पहले उनका रेप किया। 1990 में लोकप्रिय टीवी सीरियल तारा की शूटिंग के दौरान आलोक नाथ शराब के नशे में धुत थे और विनता के मुताबित उस दौरान ही आलोक नाथ ने उनका रेप किया। इस मामले में आलोक नाथ की तरफ से विनता पर एक रूपए की मानहानि का केस दर्ज कराया गया है।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00