लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

एक्टिंग का कोर्स किए बिना ही इंडस्ट्री में आई थीं दीप्ति नवल, 'चमको' से चमकी थी किस्मत

बीबीसी हिंदी Published by: अपूर्वा राय Updated Sun, 03 Feb 2019 06:16 AM IST
Deepti Naval
1 of 4
विज्ञापन
अभिनेत्री दीप्ति नवल (Deepti Naval) की फारुख शेख के साथ 1981 में आई फिल्म 'चश्मे बद्दूर' ने उन्हें एक बड़ी अदाकारा के रूप में स्थापित किया। दीप्ति आज अपना 67वां जन्मदिन मना रही हैं। दीप्ति की पहचान हमेशा एक नान-ग्लैमरस, ऑर्ट फिल्मों की हीरोइन के रूप में ही रही है। ऐसा नहीं था कि उनकी फिल्में सफल नहीं हुईं लेकिन उन्होंने चमक-दमक वाली फिल्मों से जान-बूझकर दूरी बनाए रखी।
Deepti Naval
2 of 4
दीप्ति नवल कहती हैं, ''उस जमाने में मुझे हर तरह की फिल्में ऑफर हुईं, कॉमर्शियल, बी-ग्रेड और अच्छी फिल्में भी लेकिन मुझे उन फिल्मों का माहौल नहीं पसंद आया। मैंने तय किया कि मैं ऑर्ट फिल्में ही करूंगी वही मुझे सूट भी करता था।
विज्ञापन
दीप्ति नवल
3 of 4
दरवाजे पर घंटी बजती है। खोलने पर सामने एक सेल्स गर्ल हाथ में चमको नाम का डिटर्जेंट पाउडर का डिब्बा लिए खड़ी थी। लड़की का नाम, फ़िल्मी पर्दे पर नेहा राजन और असल ज़िंदगी में दीप्ति नवल। दीप्ति मानती हैं कि उन्हें आज भी 'चश्मे बद्दूर' की अभिनेत्री के तौर पर बेहतर जाना जाता है। 
दीप्ति नवल
4 of 4
दीप्ति एक्टिंग का कोई कोर्स किए बिना ही इंडस्ट्री में आई थीं। उन्होंने 1978 में आई अपनी पहली फिल्म जुनून से लेकर2 साल पहले अमरीकी फिल्म लॉयन तक करीब 70 फिल्मों में अभिनय किया। इनमें से कुछ फिल्में उनके दिल के बेहद करीब हैं। जिनमें "अनकही, 'मैं ज़िंदा हूं', 'लीला' और 'मेमोरीज इन मार्च' शामिल है।
विज्ञापन
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें मनोरंजन समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। मनोरंजन जगत की अन्य खबरें जैसे बॉलीवुड न्यूज़, लाइव टीवी न्यूज़, लेटेस्ट हॉलीवुड न्यूज़ और मूवी रिव्यु आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00