विज्ञापन
विज्ञापन

हां, यह पदक पाकर मैं बहुत रोया हूं: गगन नारंग

Rakesh Jhaराकेश कुमार झा Updated Wed, 01 Aug 2012 02:13 PM IST
  gagan said yes i cried so much to get this medal
ख़बर सुनें
‘मैंने इस पदक का बहुत इंतजार किया है। मैं अपने जज्बात भले किसी के सामने नहीं रख पा रहा हूं। लेकिन सच्चाई यह है कि सोमवार को यह पदक मिलने के बाद मैं इसे पकड़कर कई बार रोया हूं। आखिर मैं हूं तो इंसान ही।’ रॉयल आर्टिलरी बैरक की शूटिंग रेंज में अपने जज्बातों को एक बार भी सामने नहीं लाने वाले गगन नारंग ने मंगलवार को ‘अमर उजाला’ के सामने अपना दिल खोलकर रख दिया। फिलहाल गगन के लिए जश्न का दौर अभी शुरू नहीं हुआ है। जश्न होगा और जमकर होगा, लेकिन गगन कहते हैं पहले बाकी बचे दो इवेंट में भी कुछ कमाल दिखा दूं।
विज्ञापन
विज्ञापन
सोमवार को क्वालिफिकेशन राउंड और फाइनल में गगन ने एक बार भी सिर उठाकर ऊपर नहीं देखा। गगन बताते हैं एकाग्रता बनाए रखने के लिए यह जरूरी है। लेकिन जज्बातों पर काबू रखने की बात करनी है तो उनके साथ खड़े गोल्ड मेडल जीतने वाले रूमानियाई एलिन मोलडोवियानो को देखें। उन्होंने तो एक बार हाथ उठाकर वेव भी नहीं किया। हां, फाइनल राउंड खत्म होते ही उन्होंने जरूर मुट्ठी हवा में लहरा दी।

गगन ने खुलासा किया कि हालांकि स्कोर का पता नहीं लगता है। लेकिन वह लगातार अपने और विरोधियों के स्कोर को गिन रहे थे। जैसे ही अंतिम निशाना लगा वह समझ गए उन्हें पदक मिल गया है। पदक जीतने के बाद सोमवार से मंगलवार तक फिलहाल गगन ने किसी तरह का कोई जश्न नहीं मनाया। उनके लिए यह एक आम दिन की तरह रहा।

हालांकि साथी शूटरों ने उन्हें अपने साथ डिनर पर चलने को कहा लेकिन उन्होंने कहा आज वह जमकर सोएंगे। फिलहाल उनकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं है। वह कहते हैं इस पदक ने बाकी की दो इवेंट के लिए उन पर बने दबाव को खत्म कर दिया है। खास तौर पर उनके पदक जीतने के बाद अमूल की ओर से बनाया गया कार्टून उन्हें बेहद पसंद आया। वह बोले देखो आज अमूल के इस पारंपरिक कार्टून में मैं हूं।

हां, उन्होंने यह पदक पाने के बाद हैदराबाद में अपने मां और पिता से बात की। वह भी बेहद खुश थे। लेकिन उन्होंने उनसे यही कहा कि बेटा, तुमने गोल्ड खो दिया। गगन को भी यह बात कचोट रही है। लेकिन वह इस बारे में ज्यादा नहीं सोचकर पदक की खुशी खोना नहीं चाहते हैं। गगन ने यह जरूर कहा कि उनसे सिर्फ उनके मां-बाप ही नहीं बल्कि कई दोस्तों ने कहा कि तुम गोल्ड के हकदार थे।

Recommended

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए
Lovely Professional University

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए

बात करें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से और पाइये अपनी समस्या का समाधान |
Astrology

बात करें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से और पाइये अपनी समस्या का समाधान |

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

लॉकअप से भागे दो आरोपी गिरफ्तार

बहरिया थाने के लॉकअप से भागे सात आरोपियों में से पुलिस ने गुरुवार को दो को गिरफ्तार कर लिया। एक सोरांव में अपनी बहन...

14 जून 2019

विज्ञापन

17 जून को देश में ठप रहेंगी स्वास्थ्य सेवाएं, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने हड़ताल का किया आह्वान

पूरे देश के डॉक्टरों के शीर्ष संगठन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कल यानी सोमवार सुबह छह बजे से चौबीस घंटे की हड़ताल का आह्वान करते हुए केंद्र सरकार से डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए केंद्रीय कानून लाने की मांग की है।

16 जून 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election