पार्टी करने पर कर दिए 17 के सिर कलम

कंधार/एजेंसी Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
17-party-goers-found-beheaded-in-southern-afghan-village
ख़बर सुनें
अफगानिस्तान में एक बार फिर तालिबान का खूनी चेहरा सामने आया है। तालिबान उग्रवादियों ने दक्षिणी अफगानिस्तान के गांव में इस बात पर दो महिलाओं समेत 17 लोगों के सिर धड़ से अलग कर दिए कि उन्हें पार्टी में म्यूजिक और महिलाओं के डांस करने पर आपत्ति थी। अफगानिस्तान सरकार के अधिकारियों ने इस घटना की पुष्टि की है।
हेलमंद प्रांत के गवर्नर के प्रवक्ता दाउद अहमदी ने बताया कि यह काम तालिबान का ही है। यह गांव तालिबान क्षेत्र के अंतर्गत आता है और पाबंदी के बावजूद उन्होंने पार्टी का आयोजन किया, जो कि तालिबान उग्रवादियों को नागवार गुजरा। इसलिए उन्होंने दो महिलाओं और 15 पुरुषों के सिर कलम कर डाले। मूसा कुला जिले के अध्यक्ष नेमतुल्लाह खान ने पुष्टि की गांव वालों ने पार्टी का आयोजन किया था और उसमें म्यूजिक का भी इंतजाम था।

पार्टी में दो महिलाएं डांस भी कर रहीं थीं। हालांकि जिप्सी जनजाति की महिलाओं के साथ इस तरह की सीक्रेट पार्टियों का आयोजन दक्षिणी अफगानिस्तान में आम बात है। 1996 से 2001 तक अफगानिस्तान में शासन करने वाले तालिबान ने राष्ट्रपति हामिद करजई की सरकार के खिलाफ भयंकर विद्रोह छेड़ रखा है। महिला और पुरुषों का अगर कोई संबंध नहीं है, तो उन्हें आपस में मिलने से रोका जा रहा है।

यह ताजा घटना कजाकी और मूसा किला जिले की सीमा के बीच स्थित जमीनदावर गांव में घटी है, जहां पर तालिबान काफी सक्रिय है। अफगान और अमेरिका के नेतृत्व वाली नाटो सेना के लिए जासूसी करने के आरोप में पहले भी तालिबान बहुत से ग्रामीणों के सिर काट चुका है। पिछले कुछ महीनों में इस तरह के नरसंहार से यहां की स्थानीय जनता थर्रायी हुई है।

Spotlight

Most Read

Other Archives

शहरियों ने कटा दी नाक, सिर्फ 58.89 फीसदी मतदान

बिंदकी समेत अन्य ने की पूरी मेहनत, रहे अव्वल हथगाम ने इस बार भी बाजी मारी, पांच फीसदी उछला

30 नवंबर 2017

Other Archives

35 घायल

28 नवंबर 2017

Other Archives

अवैध कट

13 नवंबर 2017

Related Videos

ओम प्रकाश राजभर की ये बात नहीं मानी तो हो जाएगा ‘पीलिया’

बलिया में योगी कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कार्यकर्ताओं को श्राप दिया है। कैबिनेट मंत्री राजभर ने कार्यकर्ताओं से कहा कि अगर दूसरे दल की रैली में गए तो पीलिया हो जाएगा।

21 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen