विज्ञापन

हमलावरों को वजीरिस्तान में मिला था प्रशिक्षण

इसलामाबाद/एजेंसी Updated Sat, 18 Aug 2012 12:00 PM IST
kamra-base-attackers-trained-in-waziristan-saus-rehman-malik
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक ने खुलासा किया है कि देश के प्रमुख कामरा एयरबेस पर हमला करने वाले आतंकियों को वजीरिस्तान के कबायली क्षेत्र में प्रशिक्षित किया गया था। उन्होंने कहा कि हमले की योजना के बारे में इस क्षेत्र से पता लगाया जा सकता है।
विज्ञापन
पत्रकारों से वार्ता के दौरान शुक्रवार को मलिक ने कहा कि बृहस्पतिवार को हुए इस हमले में शामिल नौ आतंकियों में से चार की पहचान कर ली गई है। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तानी वायु सैनिक अड्डों पर हमले की पूर्व चेतावनी के कारण ही कामरा हमले को विफल कर दिया गया और सभी आतंकी मारे गए।

उन्होंने स्वीकार किया कि उत्तरी और दक्षिण वजीरिस्तान अपराधियों के लिए सुरक्षित ठिकाना बना हुआ है। हालांकि उन्होंने उत्तरी वजीरिस्तान क्षेत्र में आतंकियों के खिलाफ अभियान चलाने के किसी निर्णय की संभावना को खारिज कर दिया। साथ ही कहा कि यह निर्णय विदेशी दबाव में नहीं लिया जाएगा। मलिक ने आगे कहा कि तालिबान देश भर के अपराधियों को शरण दे रहा है, उस मास्टरमाइंड का पता लगाने की जरूरत है जिसने आतंकियों को कामरा भेजा था।

गौरतलब है कि मलिक की यह तीखी टिप्पणी ऐसे समय आई है जब वजीरिस्तान क्षेत्र में सैन्य कार्रवाई को लेकर चर्चा जोरों पर है। बता दें कि कामरा हमले में नौ आतंकी और पाकिस्तान एयरफोर्स के दो जवान मारे गए थे। हमलावरों द्वारा दागे गए ग्रेनेड से साब-2000 सर्विलांस एयरक्राफ्ट को भी नुकसान पहुंचा था। प्रतिबंधित तहरीक ए तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली थी और इसे तालिबानी कमांडर बैतुल्लाह महसूद और ओसामा बिन लादेन की हत्या का बदला बताया था।

सुरक्षित हाथों में परमाणु हथियार
पश्चिमी मीडिया रिपोर्ट को खारिज करते हुए मलिक ने कहा कि पाकिस्तान की सुरक्षा और देश का परमाणु हथियार सुरक्षित हाथों में है। उन्होंने दावा किया, ‘जब हम परमाणु हथियार बना सकते हैं तो उसकी सुरक्षा करना भी जानते हैं।’

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

गर्भवती को जलाकर मार डाला, कोर्ट ने पति, सास-ससुर को सुनाई बड़ी सजा

दहेज के लिए गर्भवती को जलाकर हत्या करने के मामले में फर्रुखाबाद जिला जज अरुण कुमार मिश्र ने पति, सास, ससुर को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

21 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

मोदी-शाह फूंकेंगे चुनावी बिगुल समेत 5 बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी से जुड़ी खबरें। देखिए LIVE BULLETINS - सुबह 9 बजे, दोपहर 1 बजे और शाम 5 बजे।

25 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree