पुतिन विरोध पर युवतियों को दो साल कैद

मास्को/ब्रुसेल्स/एजेंसी Updated Sat, 18 Aug 2012 12:00 PM IST
women-who-opposed-putin-gets-two-years-imprisonment
ख़बर सुनें
रूस की एक अदालत ने पंक बैंड के तीन महिला सदस्यों को मास्को के एक गिरजाघर में राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ प्रार्थना करने पर दो साल कैद की सजा सुनाई है। अदालत ने तीनों महिलाओं को धर्म के नाम पर नफरत फैलाने का दोषी माना है। अदालत के इस निर्णय की दुनिया भर में कड़ी निंदा की गई है।
यूरोपीय संघ की विदेश मामलों की प्रमुख कैथरीन एशटन ने कहा है कि इन तीनों को क्राइस्ट द सेवियर कैथेड्रल में पुतिन के खिलाफ प्रार्थना करने के अपराध में दो वर्ष की सजा देना बेहद ज्यादतिपूर्ण है। इसे देखकर लगता है कि रूस में भय का माहौल तैयार करके विपक्ष की आवाज को कुचलने की तैयारी चल रही है। वहीं व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जोश अर्नेस्ट ने कहा, 'इन युवतियों का बर्ताव कट्टर ईसाई नागरिकों को खासा अखर सकता है लेकिन जिस तरह का बर्ताव कोर्ट ने किया है उसे लेकर हमें कडा़ एतराज है।'

जर्मन चांसलर एंजला मर्केल ने भी इस फैसले पर कडी़ प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा है कि अदालत का निर्णय बेहद कठोर था और यूरोपीय नियम कायदों के अनुरूप नहीं था। एक उत्साहपूर्ण समाज और राजनीतिक रूप से सचेत नागरिक रूस के लिए खतरा नहीं हैं बल्कि उसके आधुनिकीकरण के लिए बेहद जरूरी हैं। वहीं ब्रिटेन के विदेश मंत्री एलेस्टर बर्ट ने भी इस फैसले पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा है कि इससे मानवाधिकारों को लेकर रूस की प्रतिबद्धता पर सवालिया निशान लग जाता है।

गौरतलब है कि नाद्या, कात्या और माशा के उपनाम से मशहूर नादेज्दा तोलोकोनिकोवा (22), मारिना अल्योखिना (24) और येकातेरीना सामुत्सेविच (30) ने देश को पुतिन शासन से मुक्त कराने के लिए गत फरवरी में मास्को के क्राइस्ट द सेवियर कैथेड्रल में एक प्रार्थना की थी, जो रूसी आर्थोडाक्स चर्च के अनुयायियों को नागवार गुजरी थी। इसके बाद ही इन तीनों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। तीनों महिलाएं अधिकार समूह पुस्सी रायट की सदस्य हैं। यह समूह रॉक कंसर्टों के माध्यम से तमाम समकालीन मुद्दों पर अपना विरोध दर्ज कराता आया है।

Recommended

Spotlight

Related Videos

22 अगस्त 2018: देश-दुनिया की सारी खबरें

मंदसौर गैंगरेप मामले में कोर्ट ने दो आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई समेत देश-दुनिया की ताजा खबरें देखिए।

22 अगस्त 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree