शी जिनपिंग हो सकते हैं चीन के राष्ट्रपति

बीजिंग/एजेंसी Updated Tue, 14 Aug 2012 12:00 PM IST
xi-jinping-may-become-china-new-president
चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी में बदलाव का समय नजदीक आता जा रहा है। लगभग एक दशक बाद नवंबर में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) नए नेतृत्व का चुनाव करेगी। पार्टी के अंदरूनी सूत्रों के अनुसार भावी नेताओं के नाम पहले ही तय किए जा चुके हैं। मिल रहे संकेतों के अनुसार उप राष्ट्रपति शी जिनपिंग राष्ट्रपति हू जिंताओ की जगह ले सकते हैं जबकि उप प्रधानमंत्री ली केक्युयांग की ताजपोशी प्रधानमंत्री के पद पर हो सकती है।
सीपीसी ने सोमवार को एक आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि पार्टी की 18वीं नेशनल कांग्रेस (महासम्मेलन) में हिस्सा लेने के लिए 2,270 डेलीगेट्स चुने जा चुके हैं। यह डेलीगेट्स ही कांग्रेस में पार्टी के 8.2 करोड़ से ज्यादा सदस्यों का प्रतिनिधित्व करेंगे। 18वीं कांग्रेस में ही सीपीसी का नया महासचिव चुना जाएगा, वहीं चीन का अगला राष्ट्रपति भी चुना जाएगा। पार्टी की नेशनल कांग्रेस इसी वर्ष नवंबर में होनी है।

बयान के अनुसार पार्टी के दूसरे वरिष्ठ नेता भी नेशनल कांग्रेस में चुने जाएंगे। सीपीसी के संविधान के मुताबिक पार्टी के नेता पांच साल के लिए दो बार पद पर बने रह सकते हैं, इसके बाद उन्हें रिटायर होना होता है। इस तरह राष्ट्रपति हू जिंताओ और प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ दोनों ही पांच-पांच वर्ष के दो कार्यकाल पूरे करने वाले हैं और अब उन्हें रिटायर होना है।

बयान में कहा गया है कि हू जिंताओ समेत पार्टी की स्टैंडिंग कमेटी पोलित ब्यूरो के नौ सदस्यों को डेलीगेट्स में शामिल किया गया है। महासचिव के नेतृत्व वाली पोलित ब्यूरो सबसे ताकतवर संस्था होती है, यही देश पर शासन करती है। सरकारी समाचार एजेंसी शिंहुआ के अनुसार पांच साल पहले हुई नेशनल कांग्रेस की तुलना में इस बार 50 डेलीगेट्स ज्यादा हैं। पूरे देश में स्थानीय सीपीसी कमेटी अपना सम्मेलन आयोजित कर अप्रैल से जुलाई के बीच में नेशनल कांग्रेस (महासम्मेलन) के लिए डेलीगेट्स चुनती हैं।

कौन हैं शी जिनपिंग
जिनपिंग उप राष्ट्रपति होने के साथ ही सेंट्रल मिलेट्री कमीशन के उपाध्यक्ष भी हैं। उनके पास सेंट्रल पार्टी स्कूल के अध्यक्ष पद की भी जिम्मेदारी है। सीपीसी पोलित ब्यूरो स्टैंडिंग कमेटी में वह छठे रैंक के नेता हैं। वर्ष 1953 में बीजिंग में जन्मे शी ने 1971 में कम्युनिस्ट यूथ लीग ज्वाइन की थी। उन्होंने सीपीसी 1974 में ज्वाइन की और कई अहम पदों पर रहे।

Spotlight

Most Read

Other Archives

शहरियों ने कटा दी नाक, सिर्फ 58.89 फीसदी मतदान

बिंदकी समेत अन्य ने की पूरी मेहनत, रहे अव्वल हथगाम ने इस बार भी बाजी मारी, पांच फीसदी उछला

30 नवंबर 2017

Other Archives

35 घायल

28 नवंबर 2017

Related Videos

तो इस वजह से सलमान खान नहीं कर रहे हैं शादी, खुल गया राज!

सिंगर अंकित तिवारी ने कानपुर में पल्लवी शुक्ला से शादी कर ली और सलमान ने बताया, क्यों नहीं कर रहे शादी समेत बॉलीवुड की 10 बड़ी खबरें।

24 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen