विज्ञापन

तालिबान ने रोका पोलियो टीकाकरण अभियान

इस्लामाबाद/एजेंसी Updated Wed, 27 Jun 2012 12:00 PM IST
Taliban-stop-polio-vaccination-campaign
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पाकिस्तान में पोलियो के खिलाफ चलाए जा हरे प्रयासों को तगड़ा झटका लगा है। तालिबान ने अशांत दक्षिणी वजीरिस्तान क्षेत्र में अमेरिका के ड्रोन हमले जारी रहने तक पोलियो टीकाकरण अभियान पर पाबंदी लगा दी है। आतंकी संगठन के इस फरमान से क्षेत्र में 80 हजार बच्चे प्रभावित होंगे।
विज्ञापन
तालिबान के मुल्ला नजीर गुट द्वारा सोमवार को दक्षिणी वजीरिस्तान एजेंसी के मुख्य कस्बे वाना में वितरित किए गए पर्चों में दावा किया गया है कि पश्चिमी ताकतें टीकाकरण कार्यक्रम की आड़ में क्षेत्र में जासूसी अभियान चला रही हैं। पर्चों में शकील अफरीदी का जिक्र किया गया है जिसने, ओसामा बिन लादेन के पकड़ने में सीआईए की मदद करने के लिए फर्जी टीकाकरण अभियान चलाया था और उसके बाद लादेन ऐबटाबाद में अमेरिकी हमले में मारा गया था।

खैबर पख्तूनख्वा और कबीलाई क्षेत्रों में यूनीसेफ के प्रमुख अधिकारी मोहम्मद रफीक ने कहा है कि यदि दक्षिणी वजीरिस्तान में पोलियो विरोधी अभियान को रोक दिया गया तो 80 हजार बच्चे प्रभावित होंगे। इससे पूर्व, हाफिज गुल बहादुर की अगुवाई वाले एक अन्य तालिबान गुट ने उत्तरी वजीरिस्तान एजेंसी में पोलियो टीकाकरण अभियान पर रोक लगा दी थी।

उसका भी कहना था कि अमेरिकी ड्रोन हमले जारी रहने तक प्रतिबंध जारी रहेगा। एक्सप्रेस ट्रिब्यून में छपी खबर के मुताबिक, एक स्थानीय नागरिक ने बताया कि पर्चों में बच्चों के मां-बाप को निर्देश दिया गया है कि जब तक क्षेत्र में अमेरिकी ड्रोन हमले जारी रहें तब तक वह टीकाकरण का विरोध करें। एजेंसी

तो दो लाख से अधिक बच्चे नहीं पा सकेंगे दवा
अगर तालिबान लगातार इसी तरह टीकाकरण कार्यक्रम को रोककर रखता है तो आगामी 17 जुलाई को शुरू हो रहे तीन दिवसीय पोलियोरोधी टीकाकरण अभियान के दौरान, लगभग 241,000 बच्चे पोलियो की खुराक बिना रह जाएंगे। इसमें 161,000 उत्तरी वजीरिस्तान के और 80,000 दक्षिण वजीरिस्तान के बच्चे शामिल हैं।

मीठे जहर से तुलना
दक्षिणी वजीरिस्तान में बांटे गए पर्चों में पोलियो की खुराक की तुलना मीठे जहर से की गई है और दावा किया गया है कि पश्चिमी ताकतें कभी मुसलिमों की वफादार नहीं रही हैं। इसमें कहा गया है कि अगर वह (पश्चिमी ताकतें) मुसलमानों के प्रति इतनी ही संवेदनशील होतीं जो वो हमारे ऊपर इतनी निर्दयता पूर्वक बमबारी क्यों करती।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

गर्भवती को जलाकर मार डाला, कोर्ट ने पति, सास-ससुर को सुनाई बड़ी सजा

दहेज के लिए गर्भवती को जलाकर हत्या करने के मामले में फर्रुखाबाद जिला जज अरुण कुमार मिश्र ने पति, सास, ससुर को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

21 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

मंगलवार को इस शुभ योग में करें कोई भी काम, नहीं आएगी अड़चन

मंगलवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग मंगलवार 25 सितंबर 2018।

24 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree