बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

तालिबान के पास है एटम बम !

वाशिंगटन/एजेंसी Updated Thu, 07 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
The-Talibans-have-atom-bomb

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को अपने कार्यकाल के शुरुआत में ही वर्ष 2009 में सबसे बड़े खतरों से दो चार होना पड़ा था, जब अमेरिका को लगा था कि तालिबान ने परमाणु बम हासिल कर लिया है। प्रकाशित हुई एक नई किताब में इस संबंध में दावा किया गया है।
विज्ञापन


न्यूयॉर्क टाइम्स अखबार के वाशिंगटन स्थित मुख्य संवाददाता डेविड सैंगर ने अपनी किताब ‘कनफ्रंट एंड कंसील’ में लिखा है कि 2009 में राष्ट्रपति ओबामा को ओवल कार्यालय में एक बैठक में बताया गया कि तालिबान द्वारा परमाणु बम हासिल करने से संबंधित संदिग्ध सबूत मिले हैं।


हालांकि अमेरिकी खुफिया एजेंसियों की इस सूचना को गंभीरता से लेते हुए ओबामा ने क्षेत्र में एक ‘न्यूक्लियर डिटेक्ट डिसएबलमेंट’ टीम भेजने का फैसला ले लिया था। सीआईए ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के सदस्यों के बीच हुई बातचीत के आधार पर आतंकियों के परमाणु बम हासिल करने के बाद अमेरिकी शहरों पर संभावित खतरे का अनुमान लगाया था।

सैंगर ने लिखा है कि खुफिया एजेंसियों में कोई भी इसे लेकर निश्चित नहीं था कि प्रमाणिक तौर पर इस तरह का कोई खतरा है। इसके बाद भी ओबामा ने किसी तरह का खतरा लेना ठीक नहीं समझा और क्षेत्र में परमाणु जांच और निष्क्रियता दल भेजा। कई दिनों के तनाव के बाद खतरा बढ़ता गया। पाकिस्तान ने इसके बाद अपने परमाणु हथियारों का जायजा लिया और कहा कि कोई भी परमाणु हथियार गायब नहीं है। इस घटना के बाद से अमेरिकी अधिकारियों ने पाकिस्तान के परमाणु प्रतिष्ठानों के सदस्यों के साथ कई बैठकें कीं। परमाणु सुरक्षा पर चर्चा के लिए कई तटस्थ जगहों पर बैठकें की गयीं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us