बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

धनकुबेर हैं रिपब्लिकन उम्मीदवार रोमनी

वाशिंगटन/एजेंसी Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
The-Republican-candidate-Romney-is-tycoon

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
राष्ट्रपति चुनाव लड़ने वाले रिपब्लिकन उम्मीदवार मिट रोमनी भले ही अमेरिका के सबसे धनी व्यक्ति नहीं हो लेकिन वह निर्विवाद रूप में काफी अमीर हैं। उनके द्वारा अपनी संपत्ति के जो आंकड़े अमेरिकी प्रशासन को दिए गए उनसे यह खुलासा हुआ है। रोमनी की कुल संपत्ति 190 मिलियन से 250 मिलियन डॉलर के बीच आंकी गई है। हालांकि यह संपत्ति 1990 के दशक में राष्ट्रपति का चुनाव लड़ने वाले रोस पेरोट की संपत्ति से ज्यादा नहीं है, लेकिन फिर भी यह काफी है।
विज्ञापन


फेडरल इलेक्शन कमीशन द्वारा रोमनी की संपत्ति की डिसक्लोजर रिपोर्ट प्रकाशित की गई है, जो कम से कम इस सप्ताह समाचारों की सुर्खियां जरूर बटोरेगी। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक आय का यह दायरा काफी बड़ा है, क्योंकि प्रत्याशियों ने बहुत ही व्यापक संदर्भ में अपनी संपत्ति का ब्यौरा उपलब्ध कराया है। रोमनी ने गोल्डमैन सैक्स में 5 से 25 मिलियन डॉलर के बीच डिपाजिट किया है। जबकि उनकी अन्य संपत्ति 1 मिलियन से 5 मिलियन के बीच है।


उनके सहयोगियों का कहना है कि रोमनी की संपत्ति में एक ट्रस्ट का बड़ा हाथ है, जो मिट और एन रोमनी तथा उनके पांच बच्चों के लिए है। इसकी पूंजी 100 मिलियन डॉलर आंकी गई है। मालूम हो कि फोर्ब्स मैगजीन ने भी पिछले माह रोमनी की संपत्ति का आंकड़ा पेश किया था। पत्रिका ने उनकी कुल संपत्ति 230 मिलियन डॉलर आंकी थी। रोमनी ने लगभग 52 मिलियन की संपत्ति दर्जनों फंडों में लगा रखी है। इसके अलाव बहुत सी कंपनियों में उनकी हिस्सेदारी भी है।

ओबामा की टीम ने रोमनी पर हमला बोला
अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव प्रचार गरमाने के साथ राष्ट्रपति बराक ओबामा की टीम ने उनके रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी मिट रोमनी पर हमला बोल दिया है। ओबामा की टीम ने आरोप लगाया है कि जब वह मैसाच्युसेट्स के गवर्नर थे तो उन्होंने भारत को नौकरियों की आउटसोर्सिंग की थी।

डेमोक्रटिक पार्टी ने इस मुद्दे पर मैसाच्युसेट्स प्रतिनिधि सभा के सदस्य पैट्रिसिया ए हेडाड की मदद ली। हेडाड ने कहा कि उन्होंने (रोमनी) गवर्नर पद के प्रत्याशी के रूप में कर्ज घटाने का वायदा किया था, लेकिन उन्होंने किया क्या? हम पर देश में सबसे ज्यादा कर्ज का बोझ बढ़ गया। उन्होंने हमारे बच्चों के लिए क्या छोड़ा? सबसे अधिक कर्ज जो वे अपने जीवन में देखेंगे।

उन्होंने कहा कि रोमनी ने उस विधेयक को वीटो किया जो मैसाच्युसेट्स राज्य में आउटसोर्सिंग को रोक सकता था, लेकिन मैसाच्युसेट्स के लोगों की सेवाएं लेने के स्थान पर उन्होंने भारत के काल सेंटर की सेवा लीं। भारत वह स्थान है जहां आपकी नौकरियां चली गईं, यदि आप बेरोजगार हैं तो भारत वह स्थान है जहां आपको बात (काम के लिए) करनी पडे़गी। हेडाड ने कहा कि रोमनी के कार्यकाल के दौरान निजी क्षेत्र में नौकरियां छह गुना तेजी से बढ़ीं और राष्ट्रमंडल का कर्ज 16.4 प्रतिशत तक बढ़ गया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us