विज्ञापन

गिलगित-बलटिस्तान में पाक के खिलाफ आक्रोश

वाशिंगटन/एजेंसी Updated Sun, 03 Jun 2012 12:00 PM IST
resentment-against-pakistan-in-gilgit-baltistan
विज्ञापन
ख़बर सुनें
पाक के बलूचिस्तान के बाद अब गिलगित-बालटिस्तान के लोगों में आक्रोश भड़क रहा है। यहां के स्थानीय प्रतिनिधियों ने विवादित क्षेत्र के लोगों के स्वनिर्णय के अधिकार के लिए अमेरिकी मदद मांगी है। प्रतिनिधियों का कहना है कि यह लोग पाकिस्तान सरकार द्वारा दबा कर रखे गए हैं।
विज्ञापन
रिपोर्ट के अनुसार इसलामाबाद में अमेरिकी दूतावास के तीन वरिष्ठ राजनयिकों ने गिलगित में 31 मई को गिलगित बालटिस्तान यूनाइटेड मूवमेंट (जीबीयूएम) के चेयरमैन मंजूर हुसैन परवाना से मुलाकात की। अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल में लिजा बुजेनास (पॉलिटकल/एकनॉमिक ऑफीसर) और किंबरले फेलन (पॉलिटकल ऑफीसर) शामिल थे।

परवाना ने अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल के सामने गिलगित बालिटिस्तान के लोगों का स्वनिर्णय के अधिकार, कम होती सांस्कृतिक पहचान का मुद्दा उठाया। परवाना ने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों की यहां भारी मात्रा में मौजूदगी और गहरी भू रणनीतिक स्थिति एक स्वतंत्र देश होने के सभी मापदंडों को पूरा करती है। हम अपने पड़ोसी देशों भारत, पाकिस्तान, तजाकिस्तान, अफगानिस्तान और चीन से घनिष्ठ संबंध चाहते हैं, लेकिन हम यह नहीं चाहते की वह गिलगित बालटिस्तान के साथ एक उपनिवेश की तरह व्यवहार करें।

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय और हमारे पड़ोसी देशों को स्वतंत्र देश के हमारे इस स्व निर्णय के अधिकार का सम्मान करना चाहिए। परवाना ने कहा कि हम अपने संसाधनों का इस्तेमाल अपने लोगों के लिए करना चाहते हैं लेकिन पड़ोसी देश तोप को तैनात करके हमारे लोगों का उत्पीड़न करता है। परवाना का यह बयान शुक्रवार को यहां वितरित किया गया। गिलगित बालटिस्तान के प्रतिनिधियों के साथ अमेरिकी टीम से मुलाकात में परवाना ने कहा कि पाक की खुफिया एजेंसी, सेना और राजनीतिक दल हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करते हैं।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

India News Archives

जम्मू-कश्मीर विधानसभा भंग करने के फैसले के खिलाफ दायर याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज 

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के विधानसभा भंग करने के फैसले को चुनौती देने वाली जनहित याचिका खारिज कर दिया है।

10 दिसंबर 2018

विज्ञापन

प्लेन में ‘डायमंड’ लगे देखकर चौंके लोग, जानिए असली हकीकत

डायमंड लगे  इस प्लेन को देखकर लोग चौंक गए हैं। सोशल मीडिया पर तरह तरह के कमेंट्स कर रहे हैं, क्या है इसकी हकीकत जानिए

7 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election