नेपाल में अखंड सुदूर पश्चिम झड़प, 14 जख्मी

धनगढ़ी (नेपाल)/एजेंसी Updated Wed, 16 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
Monolithic-Far-West-clash-in-Nepal-14-injured

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
अखंड सुदूर पश्चिम राज्य की मांग को लेकर निकल रही रैली को रोकने के प्रयास में समर्थकों के बीच झड़प हुई, जिसमें दो सशस्त्र पुलिस कर्मियों समेत 14 लोग बुरी तरह जख्मी हो गए। झड़प के दौरान अखंड सुदूर पश्चिम राज्य समर्थकों ने थरुहट स्वायत्त परिषद कार्यालय में जमकर तोड़फोड़ की। इस घटना से धनगढ़ी में भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है।
विज्ञापन

गौरतलब है कि करीब 18 दिनों से अखंड सुदूर पश्चिम राज्य की मांग को लेकर आंदोलन जारी है। इस आंदोलन में राज्य समर्थक धरना-प्रदर्शन भी कर रहे हैं।
इधर, वाईसीएल और थारूहट संघर्ष समिति थरूहट राज्य की मांग कर रहे हैं। इस मांग को लेकर भी आंदोलन चल रहा है। बताया गया है कि धनगढ़ी के पार्क चौक में अखंड सुदूर पश्चिम राज्य समर्थकों ने एक आमसभा का आयोजन किया था। धनगढ़ी के पीपल चौतरा, ट्रैफिक चौराहा तथा कैंपस रोड से समर्थकों द्वारा रैली को निकालकर सभा स्थल तक पहुंचना था। धनगढ़ी कैंपस रोड से अखंड सुदूर पश्चिम राज्य समर्थक रैली निकाल रहे थे कि तभी वाईसीएल और थरुहट राज्य समर्थक वहां आ धमके।
उन्होंने रैली को रोकने का प्रयास किया, जिसके चलते दोनो समर्थक गुटों में झड़प शुरू हो गई। देखते ही देखते झड़प खूनी संघर्ष में तब्दील हो गई और दोनो ओर से लाठी डंडे चलने लगे। सघंर्ष को थामने के लिए सशस्त्र पुलिस एवं पुलिस बल के जवान भी प्रयास करते रहे, लेकिन झड़प थम नहीं सकी और इसमें सशस्त्र पुलिस बल के दो जवानों समेत थरुहट केंद्रीय सदस्य रामसमझ राना, बसंती, राजेश रावल, मुक्तिराम चौधरी, मोहन मिश्रा, टेकराज जोशी, किशन बोगटी सहित करीब 14 लोग बुरी तरह से जख्मी हो गए।

उन्हें धनगढ़ी के सेती अंचल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इधर, अखंड सुदूर पश्चिम राज्य समर्थकों ने धनगढ़ी स्थित थरुहट स्वायत्त परिषद के कार्यालय में जमकर तोड़फोड़ की। फिलहाल स्थिति नाजुक बनी हुई है और लोगों में दहशत है। भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है।

फूंकी तीन बाइकें, बीस वाहन तोड़े
थरुहट संघर्ष समिति द्वारा थरुहट राज्य की मांग को लेकर किए जा रहे पांच दिवसीय आंदोलन के तहत दूसरे दिन भी कैलाली, कंचनपुर, वर्दिया, दांग और बांके सहित तराई के 22 जिलों में पूर्ण बंदी रही। चक्काजाम की अवहेलना करने पर थरुहट समर्थकों ने कैलाली जिले के मूड़ा बाजार के पास मंगलवार की सुबह तीन बाइकों को रोककर उनमें आग लगा दी। इसके अलावा करीब 20 वाहनों में तोड़ फोड़ की।

गृहमंत्री ने किया एसपी का तबादला
अलग अलग राज्यों की मांग को लेकर जारी आंदोलन में शांति व्यवस्था को कायम न रख पाने और थरुहट समर्थकों की जातीय भेदभाव की शिकायत पर गृहमंत्री विजय कुमार गच्छधर ने कैलाली एसपी बसंत पंत का तबादला काठमांडू कर दिया है और यहां धनश्याम आर्याल की तैनाती कर दी है। जिन्होंने कार्यभार संभाल लिया है।

दूसरे दौर की वार्ता भी बेनतीजा
काठमांडू गई वार्ता टोली की सरकार से दूसरे दौर की वार्ता भी बेनतीजा रही। इससे पहले दौर की बीते शनिवार को वार्ता असफल रही थी। तीसरे दौर की वार्ता मंगलवार को होनी थी, लेकिन देरशाम तक वार्ता शुरू नहीं हो पाई।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us