ओलंपिक खिलाड़ियों पर आतंकवादी हमले

धर्मेंद्र आर्य Updated Tue, 17 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
terrorist attack on olympics athletes

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
1972 में म्यूनिख में हुए ओलंपिक खेलों पर आतंकवादी हमलों का साया रहा। ओलंपिक खेलों से छह दिन पहले ओलंपिक गांव में आठ आतंकवादी पहुंचे और उन्होंने उस अपार्टमेंट पर धावा बोला, जहां इजराइली खिलाड़ी ठहरे हुए थे। आतंकियों ने दो खिलाड़ियों को मार डाला और नौ को बंधक बना लिया। आतंकवादियों ने इन खिलाड़ियों की रिहाई के बदले इजराइली जेलों में बंद 200 से अधिक फलस्तीनियों और दो जर्मन आतंकवादियों को छोड़ने की मांग की।
विज्ञापन



खिलाड़ियों को छुड़ाने के लिए बातचीत नाकाम रहने के बाद अगले ही दिन आतंकवादी बंधकों को पश्चिम एशिया वापस जाने वाली उड़ान के लिए म्यूनिख के सैन्य हवाईअड्डे ले गए। हवाईअड्डे पर जर्मनी के शार्पशूटरों ने अंधाधुंध गोली चलाई, जिसमें तीन फलस्तीनी मारे गए। इसके बाद हुई गोलीबारी में सभी नौ बंधक और हेलीकॉप्टर में बैठे दो आतंकवादी मारे गए। जीवित बचे तीन हत्यारों को पकड़ लिया गया। इस हमले में कुल 11 एथलीटों की मौत हुई। हादसे के दूसरे दिन मारे गए खिलाड़ियों को श्रद्धांजलि देने के बाद ओलंपिक खेल स्थगित कर दिए गए। हालांकि बाद में इसराइली अधिकारियों से समझौते के बाद ओलंपिक खेल दोबारा शुरू कराए गए।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us