पुलिस ने जेल में डाला, रेलवे ने नौकरी छीनी

राम शंकर Updated Sat, 14 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
railway fired from job

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
मानसिक दंश झेल रही पिंकी पर सबसे पहला वार उसकी रोजी-रोटी छीन कर किया गया। बलात्कार और पुरुष होने की आरोपी पिंकी प्रमाणिक को पूर्व रेलवे ने नौकरी से निलंबित कर दिया। रेलवे का कहना है कि नौकरी की शर्तो के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति 48 घंटे या उससे अधिक समय तक पुलिस या फिर न्यायिक हिरासत में है तो उसे स्वाभाविक तौर पर नौकरी से निलंबित माना जाएगा। हालांकि मामला अभी अदालत में विचाराधीन है, लेकिन रेलवे ने तो अपना फैसला सुना दिया।
विज्ञापन



पिंकी के दर्द की इंतहा तब हो गई जब किसी ने उसका न्यूड वीडियो बनाकर इंटरनेट पर डाल दिया। पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना स्थित एक नर्सिंग होम में पिंकी का लिंग परीक्षण किया गया था। यहां के चिकित्सकों ने पिंकी को न्यूड करके उसका टेस्ट किया था। इसी दौरान किसी ने पिंकी का न्यूड अवस्था में वीडियो तैयार कर उसे इंटरनेट पर अपलोड कर दिया।
सवाल- क्या आपको लगता है कि पिंकी प्रमाणिक के साथ नाइंसाफी हुई है?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us