पैसा नहीं पानी के कारण कुंवारा दुल्हा

राकेश कुमार झा Updated Wed, 06 Jun 2012 12:00 PM IST
groom unmarried due to water not money
ख़बर सुनें
आमतौर पर जब माता-पिता अपनी बेटियों की शादी की बात करते हैं तो यह देखते हैं कि लड़का कमाता कितना है। लड़के की माली हालत और पारिवारिक स्थिति कैसी है। लेकिन गुजरात के वडोदरा जिले के देवालिया तथा जैतपुर गांवों के लड़कों की शादी इसलिए नहीं हो पा रही है क्योंकि इस गांव में पानी का स्थायी प्रबंध नहीं है। 'बेटियों के पिता कहते हैं बेटी भले कुंवारी रह जाय इस गांव नहीं ब्याहेंगे।'
इस गांव के साथ सबसे बड़ी विडम्बना यह है कि यह गांव सरदार सरोवर बांध परियोजना से महज 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। बावजूद इसके गांवों की महिलाओं को पानी भरने के लिए रोजाना मीलों का सफर तय करना पड़ता है। गुजरात के इन गांवों की तरह हरियाणा के रेवाड़ी जिला का नांधा गांव भी इसी दर्द को झेल रहा है। बेटी कहीं प्यास से न मर जाए इस डर से कोई इस गांव में अपनी बेटी की शादी नहीं करना चाहता।



भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई से महज तीन घंटे की दूरी पर शाहपुरा गांव बसा है। इस गांव की कहानी तो और भी अजीबो-गरीब है। यहां पानी की किल्लत के कारण एक नहीं तीन-तीन शादियां कर रहे हैं लोग। एक पत्नी घर का काम देखती है जबकि दो पत्नी दूर-दराज के क्षेत्रों से पानी लाती है।

Recommended

Spotlight

Related Videos

एक जिद की वजह से अधूरी रह गई शम्मी कपूर और मुमताज की लव स्टोरी

शम्मी कपूर अपने वक्त के तमाम कलाकारों से बेहद अलग थे। उन्होंने फिल्मों में हीरो की अलग छवि को पेश किया। आज जानिए शम्मी कपूर की जिंदगी से जुड़ी कुछ ऐसी बातें जिससे कम लोग ही परिचित हैं।

14 अगस्त 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree