बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

पंखे और लाइटें

विनीता वशिष्ठ Updated Wed, 30 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
Fans and lights

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
ज्यादा वॉट के बल्बों की बजाय कम उर्जा जलाने वाली ट्यूब लाइट (36 वाट या T5 ) या कॉम्पेक्ट फ्लोरोसेंट लेम्प यानी सीएफएल का उपयोग करें। इससे आप 70 फीसदी तक एनर्जी बचा सकते हैं। साधारण बल्ब की तुलना मे CFL आठ गुना ज्यादा प्रकाश देते हैं (एक 15 वाट का CFL 60 वाट के साधारण बल्ब के बराबर प्रकाश देता है।) अगर आप पांच बल्बों के बदले सीएफएल लगाते हैं तो साल में 2500 रुपए की बिजली बचा सकते हैं।
विज्ञापन




कोशिश करें कि सारे घर की लाइटें जलाने की बजाय जहां जरूरत है वहां लाइट जलाएं। वर्क स्पेशल लाईटिंग का इस्तेमाल करें। मसलन पढाई करते समय टेबल लेम्प का उपयोग करें। पूजा घर में एलईडी प्रयोग कर सकते हैं।




पॉवर स्मार्ट पंखों का उपयोग करें। पंखों के लिए इलेक्ट्रिक रेगुलेटर लगवाएं। इनसे ऊर्जा की कम खपत होती है। संभव हो सके तो पंखे के रेगुलेटर को अधिकतम पर ही रखें इससे बिजली की बचत होती है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us