पंखे और लाइटें

विनीता वशिष्ठ Updated Wed, 30 May 2012 12:00 PM IST
Fans and lights
ख़बर सुनें
ज्यादा वॉट के बल्बों की बजाय कम उर्जा जलाने वाली ट्यूब लाइट (36 वाट या T5 ) या कॉम्पेक्ट फ्लोरोसेंट लेम्प यानी सीएफएल का उपयोग करें। इससे आप 70 फीसदी तक एनर्जी बचा सकते हैं। साधारण बल्ब की तुलना मे CFL आठ गुना ज्यादा प्रकाश देते हैं (एक 15 वाट का CFL 60 वाट के साधारण बल्ब के बराबर प्रकाश देता है।) अगर आप पांच बल्बों के बदले सीएफएल लगाते हैं तो साल में 2500 रुपए की बिजली बचा सकते हैं।
कोशिश करें कि सारे घर की लाइटें जलाने की बजाय जहां जरूरत है वहां लाइट जलाएं। वर्क स्पेशल लाईटिंग का इस्तेमाल करें। मसलन पढाई करते समय टेबल लेम्प का उपयोग करें। पूजा घर में एलईडी प्रयोग कर सकते हैं।



पॉवर स्मार्ट पंखों का उपयोग करें। पंखों के लिए इलेक्ट्रिक रेगुलेटर लगवाएं। इनसे ऊर्जा की कम खपत होती है। संभव हो सके तो पंखे के रेगुलेटर को अधिकतम पर ही रखें इससे बिजली की बचत होती है।

Spotlight

Most Read

Other Archives

शहरियों ने कटा दी नाक, सिर्फ 58.89 फीसदी मतदान

बिंदकी समेत अन्य ने की पूरी मेहनत, रहे अव्वल हथगाम ने इस बार भी बाजी मारी, पांच फीसदी उछला

30 नवंबर 2017

Other Archives

35 घायल

28 नवंबर 2017

Other Archives

अवैध कट

13 नवंबर 2017

Related Videos

VIDEO: इस गली क्रिकेट में ICC बना थर्ड अंपायर

गली क्रिकेट में कभी थर्ड अंपायर होते हुए सुना है। नहीं ना, लेकिन एक गली क्रिकेट में खुद ICC ने अंपायरिंग की और एक बच्चे को नियम के साथ बताया कि वो आउट क्यों है।

22 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen