विज्ञापन

जब बाबा ने दे डाली सुपारी

इंटरनेट डेस्क Updated Thu, 10 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
when baba gives supari
ख़बर सुनें
बाबा पर आरोप लगा कि उन्होंने कुछ लोगों को तंत्र मंत्र के जरिए मरवाने के लिए एक तांत्रिक को सुपारी दी। मामला तब उलटा पढ़ गया जब तांत्रिक ने ही बाबा की पोल खोल दी। मध्यप्रदेश के महाकाली मन्दिर का तांत्रिक ओघड़ सुखराम ने दावा किया कि बाबा ने गुजरात के जानेमाने अख़बार के मालिक के बेटे समेत छह लोगों को तंत्र विद्या से मारने के लिए उसे सुपारी दी।
विज्ञापन

तांत्रिक ने कहा कि आसाराम बापू ऐसा इसलिए करना चाहते थे क्योंकि अहमदाबाद में आश्रम के गुरुकुल में पढ़ रहे दो बच्चों की रहस्यमय मौत पर ये अखबार आसाराम और उनके आश्रम दोनों की छवि खराब कर रहा था।
आसाराम इस अखबार की सनसनीखेज कवरेज से इतने परेशान हो गए कि उन्होंने अपने एक चेले मिश्रा के माध्यम से तांत्रिक सुखराम को मारण विद्या प्रयोग करने को कहा। इसके लिए बाकायदा सुखराम को पांच हजार रुपए एडवांस दिए गए।
किस किस की सुपारी
संदेश अखबार के मालिक के बेटे पार्थिव पटेल, गुजरात समाचार के मालिक और एडीटर श्रेयांश शाह, आसाराम बापू का पूर्व पर्सनल असिस्टेंट चंद्रशेखर, एक कार चालक दिनेश, उमिया माता मंदिर के ट्रस्टी कौशिक पटेल और आसाराम के पूर्व वैद्यराज अमृत वैध्य के नाम शामिल थे। तांत्रिक कहना है कि पैसे के लेनदेन पर मामला फंसा इसीलिए उसने बाबा की पोल खोल दी। यही नहीं वो इतने बड़े लोगों पर बिना बात हाथ डालने पर घबरा गया।



बापू का जवाब

बापू ने इन आरोपों का जबरदस्त तरीके से खंडन किया है। बापू का कहना है कि तांत्रिक फर्जी है और उन्हें बदनाम करने की साजिश की जा रही है। मामला अदालत में चल रहा है जिसका परिणाम आना बाकी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us