विज्ञापन

कालेजों में रैगिंग रोकेगा 'वन टू वन' टेस्ट

ग्रेटर नोएडा/अमित कुमार बाजपेयी Updated Fri, 29 Jun 2012 12:00 PM IST
one-to-one-test-will-help-to-ban-ragging
ख़बर सुनें
रैगिंग रोकने के लिए विभिन्न संस्थान नया प्रयोग कर रहे हैं। माना जा रहा है कि नए सत्र में छात्रों की ‘वन टू वन काउंसलिंग’ से जहां रैगिंग पर रोक लगेगी, वहीं ‘पर्सनैलिटी एनालिसिस टेस्ट (पैट)’ से हर छात्र के बारे में मनोवैज्ञानिक और व्यक्तित्व संबंधी पूरी रिपोर्ट संस्थान प्रबंधन के पास रहेगी। इससे छात्रों को उसके मानसिक स्तर के अनुरूप पढ़ाई और प्रशिक्षण देने के साथ ही मनोविकारों से ग्रस्त छात्रों पर विशेष नजर रखी जा सकेगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
नॉलेज पार्क-तीन स्थित शारदा विश्वविद्यालय के कुलाधिपति पीके गुप्ता ने बताया कि नए सत्र से हर छात्र की वन टू वन काउंसलिंग और पैट होगा। मनोविशेषज्ञ, शिक्षकों और कुछ चुनिंदा वरिष्ठ छात्रों की टीम के सामने एक काउंसलर हरेक छात्र से कई सवाल-जवाब करेगा, जिसके आधार पर छात्र की मार्किंग की जाएगी। प्राप्तांकों के आधार पर छात्रों की मनोवैज्ञानिक रिपोर्ट कैटेगरी तैयार की जाएगी।

केसीसी इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. शरद चंद्र अग्रवाल के मुताबिक पैट और वन टू वन काउंसलिंग से छात्रों का व्यक्तित्व, कौशल और ज्ञान आधारित विश्लेषण और वर्गीकरण हो जाएगा। इसके आधार पर संबंधित छात्रों को जरूरी ट्रीटमेंट दिया जाएगा। एनआईईटी इंस्टीट्यूट के निदेशक (प्रोजेक्ट्स एंड प्लॉनिंग) प्रो. प्रवीण पचौरी ने बताया कि नए सत्र से पहली बार संस्थान इसका प्रयोग कर रहे हैं। इसके परिणाम छात्रों में आश्चर्यजनक परिवर्तन करेंगे।

नॉलेज पार्क स्थित हरलाल, जीएनआईटी, मंगलमय, एक्यूरेट, स्काईलाइन इंस्टीट्यूट समेत कई अन्य संस्थान भी इस तरह की विधि प्रयोग की जाएंगी।

ये मिलेगा फायदा...
- होनहारों को मिलेगा जरूरत पर प्रशिक्षण
- सामान्य छात्रों के लिए चलेंगे विकास कार्यक्रम
- कमजोर छात्रों पर विशेष ध्यान और कौशल विकास कार्यक्रम
- हर छात्र की रिपोर्ट, स्कोर कार्ड के साथ संपर्क, पता और अभिभावकों का संपर्क

रैगिंग रोकने में ऐसे मिलेगी मदद...
- मनोवैज्ञानिक रिपोर्ट छात्रों की सोच बताएगी
- विध्वंसात्मक, हीन भावना, तनाव, हताशा, आपराधिक, आवेगी, विद्वेषी, क्रोधी, फोबिया आदि मनोविकारों से ग्रस्त छात्रों की अलग लिस्ट तैयार होगी।
- ऐसे छात्रों के लिए व्यक्तित्व विकास कार्यक्रमों में शामिल होना किया जाएगा अनिवार्य
- इन छात्रों पर चुनिंदा शिक्षकों-छात्रों की रहेगी गोपनीय नजर।
- विशेषज्ञों के मुताबिक स्कोर कार्ड से रैगिंग करने वालों की 90 फीसदी पहचान संभव

Recommended

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

क्या आप अपने करियर को लेकर उलझन में हैं ? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से
ज्योतिष समाधान

जानें क्यों होता है बार-बार आर्थिक नुकसान? समाधान पायें हमारे अनुभवी ज्योतिषिचर्या से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Astrology Archives

मेष राशि के जातक का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

इस राशि चिह्न के तहत जन्में व्यक्ति जीवन की नई ऊर्जा से भरे हुए रहते हैं। इनकी मासूमियत लोगो को आकर्षित करती है। ये करिश्माई, साहसी और दोस्ताना होते हैं।

8 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

फिरोजाबाद में एक दिन के पीएम बनने पर लोगों ने रखी अपनी राय, कहा इस मुद्दे पर करेंगे वोट

अमर उजाला का चुनावी फिरोजाबाद पहुंचा। जहां पर लोगों ने एक दिन के पीएम बनने पर कहा शिक्षा और स्वास्थय पर करेंगे काम ।

13 मार्च 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree