विज्ञापन

भरोसे की आड़ में हर किसी ने लूटी उसकी आबरू

मैनपुरी/ब्यूरो Updated Tue, 19 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
everyone-looted-her-prestige-after-taking-in-confidence
ख़बर सुनें
हिंदी फिल्म 'राम तेरी गंगा मैली' में अभिनेत्री मंदाकिनी की तरह यूपी की एक किशोरी को भी हर जगह अपनी आबरू गंवानी पड़ी। उसने यह सोचकर अपने प्रेमी के कहने पर घर छोड़ा कि अपनी नई दुनिया बसाएगी, लेकिन प्रेमी ने ही उसे धोखा दे दिया।
विज्ञापन

वह जहां भी रुकी, वहां उसकी इज्जत तार-तार हो गई। पुलिस ने किशोरी को बरामद कर कोर्ट में पेश किया। उसने कोर्ट में जो बयान दिए वह चौंकाने वाले थे। बयान के आधार पर अब पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है।
यूपी के हरदोई जिला निवासी राजू का परिचय जिला फर्रुखाबाद निवासी 17 वर्षीय सुनीता (दोनों परिवर्तित नाम) से हो गया था। राजू मोबाइल रिपेयरिंग का काम करता है। दुकान पर आने-जाने और परिचय के बाद उसने सुनीता को एक मोबाइल दे दिया। दोनों मोबाइल पर घंटो एक-दूसरे से बातें करने लगे।
मैनपुरी जिले में सुनीता की ननिहाल है। दिसंबर 2011 में सुनीता अपनी ननिहाल आई थी। राजू यहीं से सुनीता को अपने साथ बहला-फुसलाकर भगा ले गया था। इस संबंध में परिजनों ने एक रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी।

पुलिस ने पांच दिन पहले सुनीता को बरामद कर लिया। सुनीता का मेडिकल कराने के बाद उसके कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने बयान कराए। सुनीता ने कोर्ट में बताया कि राजू ने उसके साथ दुष्कर्म किया है। बाद में उसे जिला सीतापुर निवासी अपने एक रिश्तेदार के यहां ले गया।

रिश्तेदार ने मौका पाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में राजू जिला शाहजहांपुर निवासी अपने मौसा के यहां ले गया तो एक दिन राजू के मौसा ने भी सुनीता की आबरू लूट ली। बात यहीं खत्म नहीं हुई। अगले दिन मौसा के पुत्र ने भी उसकी इज्जत लूटी।

सुनीता ने अपने बयान में कहा कि इतना ही नहीं, राजू के लमकन निवासी एक मित्र ने भी उसकी आबरू लूटी है। दोस्त की मौसी हमेशा उसकी निगरानी करती थी। कोर्ट की अनुमति लेकर विवेचक ने सुनीता के बयान पढ़ने के बाद जांच आगे बढ़ाई। विवेचक ने अब राजू के साथ ही उसके मौसा, मौसेरे भाई, रिश्तेदार, दोस्त को भी आरोपी बनाया है।

दोस्त की मौसी को भी सुनीता को घर में रखकर निगरानी करने का दोषी माना है। पुलिस ने सभी आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us