विज्ञापन

बिजली कटौती पर विपक्ष ने सपा को घेरा

लखनऊ/एजेंसी Updated Mon, 18 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
opposition-criticism-SP-on-power-Cuts
ख़बर सुनें
उत्तर प्रदेश में विपक्षी दलों ने बिजली आपूर्ति की समस्या को देखते हुए शाम सात बजे तक शापिंग मॉल्स और बाजार बंद करने के समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार के फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग करते हुए बिजली के मोर्चे पर सरकार को असफल बताया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्य प्रवक्ता राम कुमार भार्गव ने सोमवार को इसे जल्दबाजी में लिया फैसला बताते हुए कहा कि बाजार और मॉल्स को बंद कराकर बिजली बचाने की कयावद से पहले राज्य सरकार अपने प्रतिष्ठानों और वीआईपी कॉलोनियों मे एंयरकंडीशनर के इस्तेमाल पर रोक लगाती तो ज्यादा बेहतर होता।
विज्ञापन

सपा सरकार ने प्रदर्शित की असफलताः भाजपा
भार्गव ने कहा कि गर्मी के दिनों में लोग शाम सात बजे के बाद ही खरीददारी करने निकलते हैं। अगर बाजार बंद हो जाएंगे तो लोग कैसे खरीददारी करेंगे और व्यापारियों का नुकसान अलग से होगा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश प्रवक्ता हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि सपा सरकार के इस फैसले से साफ हो गया है कि गांवों में पहले से बिजली आपूर्ति करा पाने में नाकाम सरकार अब महानगरों में बिजली आपूर्ति कर पाने में सक्षम नहीं हो पा रही है। यह सरकार की असफलता का द्योतक है।
सपा सरकार ने लिए बेतुके फैसलेः रालोद
राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के प्रदेश प्रवक्ता अनिल दुबे ने कहा कि सपा सरकार के फैसलों से लगातार आम आदमी की उम्मीदों को झटका लग रहा है। गर्मी में लोग शाम को नहीं तो क्या भरी दोपहरी में खरीदारी करने जाएंगे। राज्य सरकार इन बेतुके फैसलों के बजाय अन्य श्रोतों से बिजली खरीदकर उपलब्धता बढ़ाए।

उल्लेखनीय है कि भीषण गर्मी के बीच प्रदेश में बिजली आपूर्ति की समस्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने रविवार को राज्य की सभी दुकानों और शॉपिंग मॉल्स अगले 15 दिनों तक सुबह 11 बजे से सायं सात बजे तक ही खोलने के आदेश जारी किए हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us