विज्ञापन

उत्तराखंड व हिमाचल में यूरेनियम का भंडार!

प्रवेश कुमारी/देहरादून Updated Sat, 16 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
uranium-ores-in-Uttarakhand-and-Himachal
ख़बर सुनें
वैज्ञानिकों की कोशिशें रंग लाईं तो बिजली और अन्य ऊर्जा संबंधी दिक्कतों का काफी हद तक समाधान संभव हो सकेगा। उत्तराखंड के चमोली जनपद स्थित पोखरी क्षेत्र के साथ ही हिमाचल प्रदेश में मणिकर्ण और शिवालिक रेंज में भूगर्भीय अध्ययन के दौरान यूरेनियम मिलने की संभावना सामने आई है। इसके बाद से ही वाडिया हिमालयन भू-विज्ञान संस्थान के वैज्ञानिकों ने यहां काम शुरू कर दिया है।
विज्ञापन

यूरेनियम का उपयोग ऊर्जा की दृष्टि से बेहद अहम है। केवल परमाणु ऊर्जा ही नहीं बल्कि विद्युत ऊर्जा की दृष्टि से भी। इसके मद्देनजर आने वाले पांच वर्ष इस दिशा में बहुत अहम साबित होने वाले हैं।
भारत की बात करें तो यहां तकरीबन 61 हजार टन यूरेनियम डिपाजिट्स की संभावना जताई गई है। हर पांच वर्षों में केंद्र की तरफ से यूरेनियम डिपाजिट्स, माइनिंग के लिए खास बजट का प्रावधान किया जाता है। अभी तक झारखंड, आंध्र प्रदेश, असम और कर्नाटक के नाम इस दिशा में सबसे आगे है।
उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में यूरेनियम के साथ ही बैटरी में प्रयोग होने वाले लीथियम के भंडार की भी संभावना जताई जा रही है। दोनों राज्यों के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में स्थित ग्रेनाइट पहाड़ियों में इनके डिपाजिट्स होने की बात सामने आने से वैज्ञानिक बेहद उत्साहित हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us