यूपी के हर जोन में खुलेगी साइबर यूनिट

वाराणसी/ब्यूरो Updated Mon, 11 Jun 2012 12:00 PM IST
UP-will-open-cyber-unit-in-each-zone
ख़बर सुनें
उत्तरप्रदेश के प्रमुख सचिव गृह आरएम श्रीवास्तव और डीजीपी एसी शर्मा ने माना कि सूबे में साइबर क्राइम का ग्राफ तेजी से ऊपर चढ़ा है। इससे निबटने के लिए फिलहाल आगरा और लखनऊ में साइबर यूनिट है। अब प्रदेश के हर जोन में यूनिट लगाने की योजना बनाई गई है। इसके लिए दारोगा और सीओ को बैंक अधिकारियों के साथ मिलकर साइबर क्राइम से निबटने की ट्रेनिंग दी जा रही है।
मंडलायुक्त सभागार में रविवार को दोनों अधिकारियों ने लगभग तीन घंटे तक मंडल के चार जिलों के अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा की। बाद में पत्रकार वार्ता के दौरान अधिकारीद्वय ने बताया कि मुख्यमंत्री की मंशा है कि हरहाल में जनता की फरियाद सुनी जाए। इसमें जो अधिकारी लापरवाह पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगा उसे दंडित किया जाएगा। पुलिस और प्रशासन संयुक्त रूप से हार्डकोर बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई के लिए काम करेगा।

ट्रैफिक जाम से निबटने के लिए सीओ और एडिशनल एसपी की ड्यूटी लगाई जाएगी। थाने की वसूली करने वाले कारखासों का दूर तबादला किया जाएगा। थाने की स्थिति मजबूत करने के लिए एक और जीप तथा चौकी को एक बाइक दी जाएगी। प्रत्येक थाने को वीडियो कैमरा भी उपलब्ध कराया जाएगा। हाल में 60 एमपी-5 मशीनगन मंगाने का आर्डर दिया गया है। दंगा नियंत्रण के लिए चिली बम और प्रेफर बम प्रत्येक जिले को मिलेगा। कहा कि प्रदेश पुलिस नक्सलियों के प्रति सतर्क है। काशी, मथुरा और अयोध्या पर आला स्तर के अफसर सजग हैं। इस मामले में एटीएस की टीमें लगाई गई हैं।

<3300 दारोगाओं की होगी भर्ती
दोनों अधिकारियों ने कहा कि प्रदेश में 17 हजार दारोगा के पद स्वीकृत हैं। अभी 7800 दारोगा कार्यरत हैं। 3300 को प्रोन्नत करना है लेकिन अदालत में मुकदमा लंबित होने के कारण प्रोन्नति संभव नहीं है। प्रदेश में 3300 दारोगाओं की भर्ती होनी है। 33 फीसदी चौकीदारों की भी कमी है। 132 इंसपेक्टर प्रोन्नत कर शीघ्र डिप्टी एसपी बनाए जाएंगे।

Spotlight

Most Read

India News Archives

पहली बार बांग्लादेश की धरती से विद्रोहियों के ठिकाने पूरी तरह से साफ: BSF

भारत की पूर्वी सीमा पर दशकों से चले आ रहे सीमा पार विद्रोही शिविरों को लेकर एक अहम जानकारी आई है।

18 दिसंबर 2017

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen