हत्या नहीं, हादसा थी IPS नरेंद्र कुमार की मौत

इंदौर/एजेंसी Updated Wed, 06 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
IPS-Narendra-Kumar-death-is-not-murder-it-is-a-accident-CBI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें
मध्य प्रदेश के मुरैना में मार्च में ट्रैक्टर से कुचलकर भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी नरेंद्र कुमार की मौत के सिलसिले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बुधवार को विशेष अदालत में आरोप-पत्र पेश किया। सीबीआई ने इसको गैर इरादतन हत्या करार दिया है।
विज्ञापन

सीबीआई के अधिवक्ता एएच खान ने विशेष न्यायाधीश सुमन श्रीवास्तव की अदालत में कहा है कि नरेंद्र कुमार की मौत पूर्व नियोजित नहीं, बल्कि गैर-इरादतन थी। इसमें किसी राजनीतिक व्यक्ति अथवा खनन माफिया का हाथ प्रमाणित नहीं हुआ है। ट्रैक्टर चालक मनोज गुर्जर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला बना है।
आरोप-पत्र 12 पृष्ठों का है और 42 गवाहों के बयान पर आधारित है। इसमें 51 दस्तावेज भी संलग्न हैं। मुरैना जिले के बानमोर में प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी नरेंद्र कुमार को आठ मार्च, 2012 को ट्रैक्टर ने रौंद दिया था। तब आरोप लगे थे कि पुलिस अधिकारी की हत्या खनन माफिया ने की है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us