भारत का आयुष है अब विश्व शांति का दूत

नई दिल्ली/अटलांटा/एजेंसी Updated Fri, 01 Jun 2012 12:00 PM IST
India-Ayush-is-now-World-Peace-Envoy
ग्यारह वर्ष के होनहार छात्र आयुष गर्ग ने दुनिया में शांति और सौहार्दृ स्थापना के लिए युवा एबेंसडर तैयार करने वाली प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय संस्था नेशनल सोसाइटी ऑफ हाईस्कूल स्कालर्स की आजीवन सदस्यता हासिल करके देश का नाम ऊंचा किया है।
नोबेल पुरस्कार देने वाले परिवार के सदस्य एवं एनएसएचएसएस के संस्थापक कालेस नोबेल ने अमेरिका के अटलांटा में हाल में यह घोषणा करते हुए बताया कि नई दिल्ली के आर मंगलम वर्ल्ड स्कूल के छात्र आयुष गर्ग को विशिष्ट शैक्षणिक योग्यता के लिए इस संस्था की आजीवन सदस्यता के लिए चुना गया है। नोबेल ने कहा कि मैं कठिन मेहनत, त्याग तथा शैक्षणिक योग्यता का उत्कृष्ट स्तर हासिल करने के लिए आयुष के दृढ़ निश्चय का सम्मान करता हूं।

मैं आयुष को इस समुदाय में शामिल करता हूं जो विश्व में अच्छे भविष्य और कल्याण के लिए कार्यरत है। संस्था के अध्यक्ष जेम्स लुइस ने कहा, हमारा मकसद आयुष जैसे छात्रों की शैक्षणिक योग्यता एवं अन्य गुणों को बढ़ावा देना है ताकि विश्व समुदाय पर इसका सकारात्मक प्रभाव पडे़। यह खबर सुनने के बाद आयुष के परिवार में खुशी की लहर दौड़ गयी।

खुशी से लबरेज आयुष के पिता अनुज गर्ग ने बताया कि संस्था की सदस्यता मिलने से आयुष तीन लाख डॉलर की छात्रवृत्ति के लिए आवेदन दे सकता है तथा संस्था की ओर से विश्व स्तरीय प्रतिस्पर्धाओं और प्रतिष्ठित विदेशी विश्वविद्यालयों और संस्थाओं के विभिन्न कार्यक्रमों में निशुल्क भाग ले सकेगा।

गर्ग ने बताया कि दुनिया के विभिन्न देशों से शांति से जुडे़ कार्यक्रमों में शिरकत करने के लिए अनुज के पास निमंत्रण आ रहे हैं। उसे संयुक्त राष्ट्र की ओर से विश्व शांति सम्मेलन और कैंब्रिज में अंतरराष्ट्रीय संबंध एवं आतंकवाद पर सम्मेलन जैसे कार्यक्रमों के लिए निमंत्रण मिला है।

उन्होंने कहा कि एनएसएसएसएस के 160 देशों में पांच लाख साठ हजार सदस्य हैं, लेकिन इसमें गिने चुने भारतीय ही शामिल हैं। इसलिए इसकी सदस्यता सिर्फ आयुष के लिए नहीं बल्कि पूरे देश देश के गौरव का विषय है।

Spotlight

Most Read

India News Archives

पहली बार बांग्लादेश की धरती से विद्रोहियों के ठिकाने पूरी तरह से साफ: BSF

भारत की पूर्वी सीमा पर दशकों से चले आ रहे सीमा पार विद्रोही शिविरों को लेकर एक अहम जानकारी आई है।

18 दिसंबर 2017

Related Videos

बागपत के स्कूल में गैस लीक, 25 बच्चों की तबीयत बिगड़ी

बागपत में गांव छपरौली के एक प्राथमिक स्कूल में गैस सिलेंडर लीक होने का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक मिड डे मील के लिए आया सिलेंडर लीक हो रहा था, गैस लीकेज इतनी ज्यादा थी कि बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी।

6 मई 2017

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen