विज्ञापन
विज्ञापन

इस संगठन ने की 'दागी' नेताओं के नाम के सामने लाल डॉट का निशान लगाने की अपील

डिजिटल ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 28 Sep 2018 08:32 PM IST
Indian voter organization appeals to the put a red dot in front of criminal leaders name
ख़बर सुनें
भारतीय मतदाता संगठन ने चुनाव आयोग से अपील की है कि वह मतदान के समय सभी 'दागी' उम्मीदवारों के नाम के सामने लाल निशान लगाने की शुरुआत करे। इससे मतदाता उम्मीदवारों को बेहतर ढंग से जान पाएंगे और वे साफ-स्वच्छ छवि वाले लोगों को वोट दे सकेंगे। भारतीय मतदाता संगठन के चेयरमैन रिखब चंद जैन ने एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि एक चौकीदार या चपरासी रखने के समय भी उसकी पुलिस से जांच कराई जाती है। 
विज्ञापन
विज्ञापन
इसी तरह मतदाताओं के सामने यह अधिकार होना चाहिए कि वे यह जान सकें कि कोई उम्मीदवार किस प्रकार का व्यक्ति है। उन्होंने कहा कि इस समय कई विधानसभाओं में एक तिहाई से लेकर लगभग 48 फीसदी तक अपराधी लोग नेता बने हुए हैं। अगर इनकी संख्या आधी से अधिक हो जाएगी तो अपराधियों के खिलाफ कोई कानून लाना संभव ही नहीं हो पाएगा। 

ऐसे में जरुरी है कि अदालतें, चुनाव आयोग और मीडिया मिलकर ऐसा प्रयास करें जिससे देश में अपराधी चुनाव न लड़ सकें। केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में स्वीकार किया था कि (मार्च 2018 में) कुल 4896 जनप्रतिनिधियों में 36 फीसदी पर आपराधिक केस चल रहे हैं। इन नेताओं के ऊपर 3045 केस चल रहे हैं। उत्तरप्रदेश में अपराधी नेताओं की संख्या सबसे ज्यादा है।

Recommended

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें
Uttarakhand Board

Uttarakhand Board 2019 के परीक्षा परिणाम जल्द होंगे घोषित, देखने के लिए क्लिक करें

शनि जयंती के अवसर पर शनि दोष निवारण पूजा (03 जून 2019, सोमवार)
ज्योतिष समाधान

शनि जयंती के अवसर पर शनि दोष निवारण पूजा (03 जून 2019, सोमवार)

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

हरा सोना (तेंदू पत्ता) की चोरी रोकने पहुंचे वनकर्मियों को खदेड़ा

स्टेशन के कमरे व थाने परिसर में पहुंचकर बचाई जान

19 मई 2019

विज्ञापन

मध्य प्रदेश: खतरे में कांग्रेस, क्या गिर जाएगी कमलनाथ सरकार

मध्य प्रदेश में खतरे में कांग्रेस। क्या गिर जाएगी कमलनाथ सरकार ? देखिए क्या है पूरा मामला?

20 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election