विज्ञापन
विज्ञापन

HIV पॉजिटिव छात्र को स्कूल से निकालने पर प. बंगाल से जवाब तलब

Rahul Sankrityayanराहुल सांकृत्यायन Updated Sun, 17 Jan 2016 02:43 AM IST
hiv positive children out of school in kolkata
ख़बर सुनें
पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना क्षेत्र के एक निजी स्कूल द्वारा एचआईवी पॉजिटिव एक छात्र के स्कूल में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने पश्चिम बंगाल सरकार को नोटिस जारी किया है।
विज्ञापन
इतना ही नहीं इस स्कूल में पढ़ाने वाली उसकी नानी को भी परीक्षण से गुजरना पड़ा और उसके बाद से उसे लगातार मौखिक प्रताड़ना सहनी पड़ रही है।

आयोग ने इस मामले को न केवल मानवाधिकार आयोग का घोर उल्लंघन बताया बल्कि शिक्षा के अधिकार का उल्लंघन भी करार दिया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

नानी का भी किया गया था परीक्षण

विज्ञापन

Recommended

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी
Invertis university

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में
Astrology Services

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से वापस ली गई एसपीजी सुरक्षा, मिलेगा सिर्फ जेड प्लस कवर

पूर्व पीएम मोदी से एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली गई है। अब उनके पास सिर्फ जेड प्लस सिक्योरिटी रहेगी। गृहमंत्रालय के मुताबिक पूर्व पीएम को खतरा कम है। गृह मंत्रालय ने रिव्यू के बाद ये फैसला किया है।

26 अगस्त 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree